पीएम मोदी की राजीव गांधी हत्याकांड पैटर्न पर हत्या की हो रही थी साजिश, चार लाख राउंड कारतूस जुटाने की भी थी तैयारी

पीएम मोदी की राजीव गांधी हत्याकांड पैटर्न पर हत्या की हो रही थी साजिश, चार लाख राउंड कारतूस जुटाने की भी थी तैयारी

न्यूज4नेशन डेस्क- पीएम नरेन्द्र मोदी की हत्या की साजिश के मामल में अब नया मोड़ आ गया है. साजिश में शामिल लोगों के जड़े खोदने के लिए पुलिस अब अलर्ट मोड में है.माओवादियों की इस साजिश की तह तक जाने के लिए पुलिस ने 5 राज्यों में 8 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की. आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश की चिट्ठी पर महाराष्ट्र पुलिस ने रांची अन्य शहहों में मंगलवार को छापेमारी की. छापेमारी में 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें हैदराबाद से तेलुगू कवि वारवरा राव, छत्तीसगढ़ में ट्रेड यूनियन कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज, ठाणे से वेरनन गोंजालवेज, फरीदाबाद से अरुण फरेरा और दिल्ली से गौतम नवलखा शामिल हैं. आपको बता दें कि जून में माओवादियों की एक चिट्ठी पुलिस के हाथ लगी थी. जिसमें कुछ ऐसा लिखा था जिसका सीधा कनेक्शन पीएम मोदी की हत्या की साजिश से जुड़ रहा था.

 
 ऐसे किया लिखा था उस चिट्ठी में

दरअसल, इस साल जून में माओवादियों की एक चिट्ठी सामने आई थी, जिसमें राजीव गांधी की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने का खुलासा हुआ था. 18 अप्रैल को रोणा जैकब द्वारा कॉमरेड प्रकाश को लिखी गई चिट्ठी में कहा गया कि हिंदू फासिस्म को हराना अब काफी जरूरी हो गया है. मोदी की अगुवाई में हिंदू फासिस्ट काफी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, ऐसे में इन्हें रोकना जरूरी हो गया है.इसमें लिखा गया था कि मोदी की अगुवाई में बीजेपी बिहार और बंगाल को छोड़ करीब 15 से ज्यादा राज्यों में सत्ता में आ चुकी है. अगर इसी तरह ये रफ्तार आगे बढ़ती रही, तो माओवादी पार्टी को खतरा हो सकता है. इसलिए वह सोच रहे हैं कि एक और राजीव गांधी हत्याकांड की तरह घटना की जाए.
  

एम-4 राइफल और चार लाख राउंड कारतूस का भी जिक्र

इस चिट्ठी में पीएम मोदी की हत्या की साजिश को अंजाम देने के लिए एक एम-4 राइफल व चार लाख चक्र कारतूस खरीदने के लिए आठ करोड़ रुपये की जरूरत का जिक्र किया गया है. कहा जा रहा है कि इस पत्र में वरवर राव का नाम शामिल है. वरवर राव क्रांतिकारी लेखकों के एक संगठन ‘वीरसम’ के अध्यक्ष हैं. राव ने इन आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने कहा किइस मामले में गिरफ्तार सभी पांच लोग वंचितों की भलाई के लिए काम रहे थे.

Find Us on Facebook

Trending News