सासाराम में फिर खुली स्वास्थ्य विभाग की पोल, मरीज को नहीं मिला एम्बुलेंस, खटिया पर ले गए परिजन

सासाराम में फिर खुली स्वास्थ्य विभाग की पोल, मरीज को नहीं मिला एम्बुलेंस, खटिया पर ले गए परिजन

SASARAM : बिहार में खाट पर हेल्थ सिस्टम को ढोने की एक तस्वीर रोहतास से आई है. जहां बंध्याकरण के ऑपरेशन के बाद मरीज को उनके परिजन खटिया पर उठाकर ले जा रहे हैं. यह तस्वीर रोहतास जिला के रोहतास प्रखंड के अकबरपुर के पास की है. बताया जाता है कि रोहतास प्रखंड स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बभनतालाब गांव के एक महिला का बंध्याकरण का ऑपरेशन हुआ था. जिसके बाद उसके परिजन खटिया को डोली बनाकर उसे गांव तक ले गए. मरीज को एंबुलेंस नहीं मिलने की शिकायत पर कुछ लोग प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर पूछताछ भी की. 

इस संबंध में सासाराम के सिविल सर्जन डॉ. सुधीर कुमार ने बताया कि चुकी मरीज का घर पहाड़ पर स्थित है. जहां एंबुलेंस जाने के रास्ता नहीं है. अमूमन ऐसे गांव में मरीजों को खटिए या फिर अन्य तरीके से उठाकर ही ले जाया जाता है. सिविल सर्जन ने यही बताया कि उन्हें जानकारी मिली है कि 7 किलोमीटर तक कुछ इसी तरह से मरीज के परिजन खटिया में टांग कर मरीज को घर तक ले गए हैं. 

रोहतास के कैमूर पहाड़ी के इलाके में इस तरह की तस्वीरें आम है. लेकिन आप समझ सकते हैं कि यह तस्वीर कितनी भयावह है. पूरा हेल्थ सिस्टम मानो रोहतास जिला में खाट पर आ गई हो. सिविल सर्जन ने इस संबंध में रोहतास के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी से जानकारी मांगी है. 

सासाराम से राजू की रिपोर्ट 



Find Us on Facebook

Trending News