मस्जिद में फेसबुक लाइव पर हनुमान चालीसा पाठ ....कार्रवाई करने से मुस्लिम युवक ने किया इनकार....

मस्जिद में फेसबुक लाइव पर हनुमान चालीसा  पाठ ....कार्रवाई करने से मुस्लिम युवक ने किया इनकार....

Desk :उत्तर प्रदेश के बागपत में मस्जिद  में हनुमान चालीसा  पढ़ने के मामले में मस्जिद के संचालक ने युवक के खिलाफ कार्रवाई से मना कर दिया है. पुलिस को दिए गए बयान में संचालक ने युवक पर कार्रवाई की बात से इनकार किया है. मौलाना का कहना है कि युवक गांव का ही रहने वाला है और परिचित है, इसलिए वह कार्रवाई नहीं चाहते. बता दें कि खेकड़ा थाना क्षेत्र के विनयपुर गांव की मस्जिद में मंगलवार (3 नवंबर) को मनु पाल बंसल नामक युवक ने हनुमान चालीसा का पाठ किया था।

दरअसल, मथुरा के नंदबाबा मंदिर में नमाज पढ़ने के बाद विवाद बढ़ा. इस घटना के बाद बागपत की एक मस्जिद में युवक का हनुमान चालीसा का पाठ करना चर्चा का कारण बना गया. वहीं, किसी भी अनहोनी से बचने के लिए फिलहाल पुलिस पूरे मामले की पड़ताल कर रही है।

हनुमान चालिसा पढ़ते हुए किसा था फेसबुक लाइव...
दरअसल, बागपत के खेकड़ा थाना क्षेत्र के विनयपुर गांव की मस्जिद में घुसकर मनु पाल बंसल नाम के युवक ने मोबाइल में हनुमान चालीस चलाकर पाठ किया. इतना ही नहीं, इस दौरान युवक फेसबुक पर भी लाइव रहा और अपने दोस्तों को मस्जिद में लाइव हनुमान चालीसा की वीडियो दिखाई.

पहले मनु पाल बंसल फेसबुक पर लाइव हुआ और उसके बाद मस्जिद में हनुमान चालीसा की आवाज गूंजने लगी. इस बाबत युवक ने कहा कि उसने सांप्रदायिक सौहार्द स्थापित करने के लिए मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ किया है. दावा किया गया कि मनु पाल ने इमाम से भी इसकी परमिशन ली थी और उसके बाद उसने मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ किया था. पता चला है कि मनु पाल बंसल बीजेपी का कार्यकर्ता और जनसंख्या फाउंडेशन का पदाधिकारी है. किसी अनहोनी से बचने के लिए फिलहाल पुलिस पूरे मामले की पड़ताल कर रही है. वहीं, मनु पाल बंसल द्वारा मस्जिद में हनुमान चालीसा पाठ किया जाना चर्चा का सबब बना हुआ है.

मथुरा के मंदिर में नमाज पढ़ने के मामले में गिरफ्तार हो चुका है शख्स...
आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मथुरा के नंदगांव स्थित नंद भवन मंदिर में नमाज पढ़ने के चलते सोमवार को मथुरा पुलिस ने फैसल खान को दिल्ली के जामिया नगर से गिरफ्तार कर लिया. मंदिर के सेवायत कान्हा गोस्वामी की तहरीर पर बरसाना पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 153A, 295, 505 के तहत केस दर्ज किया है. जिनके विरुद्ध मामला दर्ज हुआ है उनमें नमाज पढ़ने वाले दोनों मुस्लिम युवकों फैसल खान और मोहम्मद चांद के नाम भी शामिल हैं. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मंदिर में नमाज पढ़ने की यह घटना बीते 29 अक्टूबर की है. इस बीच, मंदिर में नमाज पढ़ने वाले और खुदाई खिदमतगार संगठन से जुड़े फैसल खान ने इस विवाद पर अपनी बात रखी है. फैसल का कहना है कि वह कई दिनो की यात्रा पर थे. इस यात्रा का मकसद हिन्दू-मुस्लिम एकता था. हम अपने साथियों के साथ मंदिर में जा रहे थे. लोगों से एकता की बात कर रहे थे. इसी तरह नंदबाबा के मंदिर में भी गए थे. जब नमाज़ का वक्त हो गया तो मंदिर के लोगों ने ही हमें नमाज़ पढ़ने के लिए जगह दी. उसके बाद खाना भी खिलाया. इसके बाद हम लोग वापस दिल्ली आ गए. इसके तीन दिन बाद विरोध शुरू हो गया।

Find Us on Facebook

Trending News