गोलियों का शिकार हुए मस्तु वर्मा का अपराध से था पुराना नाता, जानिए इससे पहले किन अपराधों में आया था उसका नाम

गोलियों का शिकार हुए मस्तु वर्मा का अपराध से था पुराना नाता, जानिए इससे पहले किन अपराधों में आया था उसका नाम

PATNACITY :  राजधानी पटना के बिग हॉस्पिटल के पास रात अपराधियो ने  डबल मर्डर की घटना को अंजाम देकर सुशाशन की पुलिस को खुली चुनौती दे डाली।अपराधियो ने पुलिस की सक्रियता को ठेंगा दिखाते हुए इन दोनों पर सरेराह बैक टू बैक कई गोलियां दाग दी।अपराधियो ने मस्तु और सुनील के सिर और कमर में कई गोलियां इस लिए मारी की बो सच मे  निश्चिन्त हो सके कि उनकी मौत इस गोलीबारी में हो गयी हो। हुआ भी वही जो अपराधियो के मंसूबे थे। इस गोलीबारी की घटना में मस्तु और उसके दोस्त सुनील की मौके पर ही मौत हो गयी। 

अपराध जगत से जुडा रहा है मस्तु, जेल की भी कर चुका है सैर

मस्तु का अपराध जगत से पुराना नाता रहा है।हाजीपुर में 2018 में हुए गुंजन खेमका की हत्या में मस्तु का नाम मुख्य रूप से  आया था साथ ही खाजेकलां,चौक,सहित कई थानों में हुए आपराधिक घटनाओं में  मस्तु के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज थे।गुंजन खेमका के मर्डर मामले में वो करीब छः महीने जेल की हवा भी खा चुका है।फिर वो जमीन के कारोबार से भी जुड़ गया। इस दौरान मस्तू पटना नगर निगम के बार्ड नम्बर 62 से अपनी पत्नी पप्पी बर्मा को निगम का चुनाव भी लड़ा चुका है लेकिन वो  चुनाव जितने में सफल नही हो सका। हालांकि मस्तू को कई राजनीतिक नेताओ के साथ भी काफी नजदीक से देखा गया।

पास में नहीं था लाइसेंसी पिस्टल

मस्तू के पास अपना लाइसेंसी पीस्टल भी था। लेकिन, विडंबना ऐसी कि जब उन पर हमला हुआ, उस समय उसका पिस्टल उसके पास मौजूद नहीं था। बताया गया कि आम तौर पर वह अपना पिस्टल हमेशा अपने पास रखता था।

राजनीति से जुड़ा रहा है मस्तु वर्मा

मारे गए मस्तु वर्मा का राजनीतिक कनेक्शन भी रहा है। उसकी कुछ तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें वह पटना के दोनों सांसद रविशंकर प्रसाद और राम कृपाल यादव के साथ खड़ा नजर आ रहा है। ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि राजनीति में अपनी पैठ बनाने में जुटा था।

बता दें  मस्तू को कल रात दिल्ली जानी थी जिसमे सुनील मस्तू को छोडने अपने परिवार के साथ कार से स्टेशन जा रहा था की इसी दौरान बीच सड़क पर बाइक पर सवार अपराधियो ने कार को ओवरटेक कर रोक उन दोनों पर गोलियों की बौछार कर दी जिसमे मस्तू और सुनील की जिंदगी का दर्दनाक अंत हो गयी। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन में लगी हुई है। फिलहाल घटना के पीछे आखिर वो कौन लोग थे और उनकी इस हत्या के पीछे क्या मनसूबे थे यह तो अपराधियो के गिरफ्त में आने के बाद ही स्पस्ट हो पायेगा।


Find Us on Facebook

Trending News