रिश्तों की माया : विपक्षी पर परिवारवाद का आरोप, अपने भाई-भतीजे को इतना बड़ा पद

रिश्तों की माया : विपक्षी पर परिवारवाद का आरोप, अपने भाई-भतीजे को इतना बड़ा पद

NEWS4NATION DESK : अपने धूर विरोधी पर हमेशा परिवारवाद करने का आरोप लगाकर हमलावर रही बसपा प्रमुख मायावती आखिरकार रिश्तों की माया में फंस ही गई। 

परिवारवाद पर हमलावर रहीं मायावती ने परिवारवाद के रास्ते ही अपनी राजनीतिक विरासत आगे बढ़ाने की शुरुआत कर दी है। उन्होंने अपने भाई और भतीजे दोनों को ही पार्टी में बड़े पद दे दिए। 

बसपा प्रमुख ने अपने भाई आनंद कुमार को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना दिया है। वहीं भतीजे आकाश आनंद को पार्टी के नैशनल को-ऑर्डिनेटर का बड़ा पद मिला है। 

मायावती ने रविवार को लखनऊ में अपने विधायकों, सांसदों और बड़े पदाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में प्रदेश में होने वाले उपचुनावों को लेकर पार्टी की रणनीति तय की गई।
 
 सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आकाश को अब पार्टी को पूरी तरह से युवाओं जोड़ने के लिए कहा गया है। इसमें शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को शामिल करने का लक्ष्य है। इसके अलावा आकाश को सोशल मीडिया के माध्यम से पार्टी आंदोलन को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की भी जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसका असर विधानसभा के उपचुनावों के साथ ही 2022 के विधानसभा चुनाव में दिखने की उम्मीद जताई जा रही है।
 
 बता दें बसपा सुप्रीमो मायावती अपने सबसे बड़े प्रतिद्वंदी समाजवादी पार्टी पर हमेशा परिवारवाद का आरोप लगाकर हमलावर रही हैं। उन्होंने हमेशा यह कहा है कि समाजवादी पार्टी एक परिवार की पार्टी है। 

Find Us on Facebook

Trending News