बिहार में क्लीन एयर एक्शन प्लान पर क्षमता-वर्धन के लिए सीड द्वारा मीडिया वर्कशॉप का आयोजन, पढ़िए पूरी खबर

बिहार में क्लीन एयर एक्शन प्लान पर क्षमता-वर्धन के लिए सीड द्वारा मीडिया वर्कशॉप का आयोजन, पढ़िए पूरी खबर

PATNA : राज्य में क्लीन एयर एक्शन प्लान (स्वच्छ वायु कार्य योजना) के तकनीकी पहलुओं के प्रति पत्रकारों को सचेत एवं उनका क्षमता-वर्धन करने और इस व्यापक जनहित के मुद्दे पर मीडिया समुदाय से सहयोग हासिल करने के उद्देश्य से सेंटर फॉर एनवायरनमेंट एंड एनर्जी डेवलपमेंट (सीड) ने ऑनलाइन मीडिया वर्कशॉप का आयोजन किया, जहाँ राज्य में स्वच्छ हवा बहाल करने के समाधानों पर सार्थक संवाद हुआ। इस कार्यशाला में पटना, गया, मुजफ्फरपुर और भागलपुर समेत राज्य के कई जिलों के प्रमुख मीडिया संस्थानों (प्रिंट/टेलीविजन/वेब) एवं विभिन्न भाषाओं में कार्यरत 70 से अधिक रिपोर्टर्स, डेस्क एडिटर्स, फीचर स्टोरी राइटर्स, फोटो जर्नलिस्ट, स्तम्भकार, फ्रीलांसर्स एवं मीडिया स्टूडेंट्स की भागीदारी हुई। कार्यशाला के व्यापक उद्देश्य एवं संदर्भ के बारे में सीड के सीईओ रमापति कुमार ने कहा, "मीडिया को लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में जाना जाता है और किसी समाज को सूचना-सम्पन्न और विवेकशील बनाने का दायित्व पत्रकारों का है। किसी विषय को महत्वपूर्ण नीतिगत विषय बनाने और बौद्धिक परिचर्चा के जरिए इसका समाधान पेश करने का श्रेय भी मीडिया को है। इस परिप्रेक्ष्य में छोटे एवं मध्यम दर्जे के शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण को मुख्यधारा की बहस में रखने और समुचित डाटा एवं साइंस के साथ लोगों की आकांक्षाओं को सामने लाने में मीडिया की सर्वोपरि भूमिका होगी। इसी क्रम में बिहार में स्वच्छ वायु एवं स्वस्थ पर्यावरण से संबंधित जागरूकता को व्यापक फलक पर फ़ैलाने में समाधानमूलक पत्रकारिता की भूमिका महत्वपूर्ण है।" हाल के वर्षों में बिहार में वायु प्रदूषण एक स्वास्थ्य संकट का विषय बन गया है। नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम के तहत राज्य सरकार ने 2019 में पटना, गया और मुजफ्फरपुर के लिए शहर की स्वच्छ वायु कार्य योजना तैयार की थी। हालांकि इसका प्रभावी क्रियान्वयन और निचले स्तर तक जन-जागरूकता प्रसार अभी भी एक बड़ी चुनौती है। स्वच्छ वातावरण सुनिश्चित करने के लिए एनफोर्समेंट एजेंसियों द्वारा बहुत कुछ किया जाना शेष है, जिसे मीडिया भी लगातार रेखांकित कर रहा है।

इस अवसर पर क्लीन एयर एशिया की इंडिया डायरेक्टर प्रार्थना बोरा ने कहा, "स्वच्छ वायु के प्रति आम जनता में पब्लिक एजुकेशन का स्तर बढ़ाने और विविध स्टेकहोल्डर्स के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान में मीडिया बेहद कारगर भूमिका निभा रहा है। क्लीन एयर एक्शन प्लान के प्रभावी तरीके से क्रियान्वयन के लिए जन-जन तक व्यापक जनसमर्थन तैयार करने में भाषाई पत्रकारिता बेहद महत्वपूर्ण है। ऐसे में स्वस्थ और समृद्ध बिहार के व्यापक लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सिविल सोसाइटी संगठनों, आम नागरिकों और मीडिया का सहयोगात्मक संबंध बेहद आवश्यक है।”

मीडिया कार्यशाला के आयोजन के लिए सीड की सराहना करते हुए मॉर्निंग इंडिया के प्रधान संपादक अशोक मिश्रा ने पत्रकारों की नियमित ट्रेनिंग और कैपिसिटी बिल्डिंग पर जोर देते हुए कहा कि "इस तरह के आयोजनों से मीडिया समुदाय को किसी विषय-विशेष पर व्यापक समझ प्राप्त करने में बहुत मदद मिलती है और पत्रकारों के लिए भी उनकी व्यस्त दिनचर्या के बीच कुछ सीखने का यह एक बढ़िया मौका होता है। आज के समय में स्वस्थ एवं स्वच्छ हवा जैसे सामाजिक मुद्दे के लिए मीडिया के लोगों के बीच जनपक्षधर पत्रकारिता शैली को मजबूत करने की जरुरत है। साथ ही रिसर्च और फैक्ट आधारित रिपोर्टिंग, डाटा जर्नलिज्म और ह्यूमन इंटरेस्ट फीचर लेखन जैसे कौशलों को भी और बेहतर किया जाना चाहिए।"

यह कार्यशाला राज्य में स्वस्थ परिवेश और स्वच्छ हवा स्थापित करने के लिए सीड द्वारा विभिन्न स्टेकहोल्डर्स के लिए संचालित की जा रही प्रशिक्षण एवं क्षमता-वर्धन गतिविधियों का एक अभिन्न अंग है। सीड का मानना है कि स्वच्छ वायु कार्य योजना में समाधान आधारित कार्यों को मुख्यधारा में लाया जाना चाहिए और इसे सहज-सरल भाषा में प्रसारित किया जाना चाहिए। इसके साथ ही समाज में जागरूकता और सार्थक परिवर्तन लाने के लिए पत्रकारों और मीडियाकर्मियों के साथ सिविल सोसाइटी संगठनों को मिल कर कार्य करना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें:अंकिता ज्योति , सीड; Ph: 8448019300, Email: [email protected], अभिनन्दन कुमार , सीड, Ph: 9973643001, Email: [email protected] 

Find Us on Facebook

Trending News