बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • बांका में पुलिस टीम पर हमला करना पड़ा महंगा, पुलिस ने चार आरोपियों को हथियार के साथ किया गिरफ्तार
  • बांका में पुलिस टीम पर हमला करना पड़ा महंगा, पुलिस ने चार आरोपियों को हथियार के साथ किया

  • सीपीआई ने वायनाड से की अपने कैंडिडेट की घोषणा, कहीं अमेठी के साथ वायनाड से न भी कट जाए राहुल गांधी का पत्ता
  • सीपीआई ने वायनाड से की अपने कैंडिडेट की घोषणा, कहीं अमेठी के साथ वायनाड से न भी कट

  • जन विश्वास यात्रा को लेकर अररिया में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने किया रोड शो, देखने के लिए उमड़ा जनसैलाब
  • जन विश्वास यात्रा को लेकर अररिया में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने किया रोड शो, देखने के लिए

  • कहीं अमेठी के साथ वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ने के चूक न जाएं राहुल गांधी, सहयोगी पार्टी ने की अपने कैंडिडेट की घोषणा
  • कहीं अमेठी के साथ वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ने के चूक न जाएं राहुल गांधी, सहयोगी पार्टी

  • श्रद्धांजलि के बहाने सियासत ! पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने पंकज उधास के निधन पर जताया शोक, कहा “बड़ी महँगी हुई शराब,थोड़ी-थोड़ी पिया करो” जैसे नज्म से बिखेरा आवाज का जादू
  • श्रद्धांजलि के बहाने सियासत ! पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने पंकज उधास के निधन पर जताया शोक, कहा

  • पटना में कांग्रेस नेता के बेटे ने अपने फ्लैट में लगाई फांसी, इस वजह से चल रहा था परेशान
  • पटना में कांग्रेस नेता के बेटे ने अपने फ्लैट में लगाई फांसी, इस वजह से चल रहा था

  • गजल सम्राट पंकज उधास के निधन पर मुख्यमंत्री ने जताया शोक, बताया भारतीय संगीत एवं फिल्म जगत को अपूरणीय क्षति
  • गजल सम्राट पंकज उधास के निधन पर मुख्यमंत्री ने जताया शोक, बताया भारतीय संगीत एवं फिल्म जगत को

  • गया में पोस्टर चिपका कर नक्सली ने की लेवी देने की मांग, 15 घंटे के भीतर पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • गया में पोस्टर चिपका कर नक्सली ने की लेवी देने की मांग, 15 घंटे के भीतर पुलिस ने

  • मुंगेर में 10 घरों में शॉर्ट सर्किट से लगी भीषण आग, लाखों की सम्पत्ति जलकर हुई राख
  • मुंगेर में 10 घरों में शॉर्ट सर्किट से लगी भीषण आग, लाखों की सम्पत्ति जलकर हुई राख

  • मादक पदार्थ और देसी कट्टे के साथ अपराधी गिरफ्तार, गुप्त सूचना पर पुलिस ने घेरा
  • मादक पदार्थ और देसी कट्टे के साथ अपराधी गिरफ्तार, गुप्त सूचना पर पुलिस ने घेरा

'मिठास' वाले मंत्री जी भारी 'टेंशन' में, नीतीश सरकार ने नहीं मानी सिफारिश, भेज दिया 'MY' समीकरण वाला SDO

'मिठास' वाले मंत्री जी भारी 'टेंशन' में, नीतीश सरकार ने नहीं मानी सिफारिश, भेज दिया 'MY' समीकरण वाला SDO

PATNA: बिहार सरकार ने एक दिन पहले बड़े पैमाने पर आईएएस और बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का ट्रांसफर-पोस्टिंग किया है। स्थानांतरित अधिकारियों में डीडीसी,एडीएम और एसडीओ शामिल हैं। अनुमंडल में एसडीओ का पद काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। क्यूं कि सब डिवीजन स्तर तक जितने भी जन- कल्याण के काम होते हैं उसमें एसडीओ की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जिस तरह से जिला में डीएम की भूमिका होती है उसी तरह से अनुमंडल में एसडीओ होते हैं। लिहाजा सत्ताधारी दल के विधायक-मंत्रियों की मंशा रहती है कि उनके हिसाब का मनपसंद एसडीओ हो। 

मिठास वाले मंत्री जी टेंशन में 

बिहार में मिठास वाले विभाग का जिम्मा संभाल रहे एक मंत्री जी ने अपने क्षेत्र के अनुमंडल में एसडीओ की पदस्थापन को लेकर सिफारिश वाला पत्र लिखा था। मंत्री जी चाहते थे कि उनका खास अधिकारी एक बार फिर से उनके यहां एसडीओ बने। उन्हें पूरी संभावना थी कि सिफारिश पर बात बन जायेगी। गुरूवार को जब पत्र जारी हुआ तो उसमें मिठास वाले मंत्री की सिफारिश पत्र अमल नहीं हुआ। उल्टा माई समीकरण वाले एक अधिकारी को एसडीओ बनाकर भेज दिया गया। अब मंत्री को समझ में नहीं आ रहा कि ये हुआ क्या....दिमाग खपाने के बाद मंत्री जी को समझ में आने लगा है कि सिफारिश पत्र लिखने का रियेक्शन हो गया। इसीलिए माई समीकरण वाले अधिकारी को एसडीओ बनाकर भेज दिया गया है। मंत्री जी को भीतर ही भीतर इस बात का मलाल है कि बड़े भाई की भूमिका में आने के बाद भी हमारी सिफारिश नहीं सुनी जा रही।  

माई समीकरण वाले एसडीओ की हुई पोस्टिंग

अब मिठास वाले मंत्री जी करें तो क्या...कुछ कर भी नहीं सकते। सिर्फ खास समर्थकों से इस बात को साझा कर अपना दर्द हल्का कर रहे। मंत्री जी कि चिंता इस बात की है कि अब तक जो एसडीओ थे वो हमारी हर तरह की बात सुनते थे।साथ ही समय-समय पर .......करते थे। अब सरकार ने जिस अधिकारी की पोस्टिंग की है वो तो हर बात सुनने से तो रहा...। हालांकि उन्हें इस बात से थोड़ी राहत जरूर मिली है कि जो अधिकारी एसडीओ बनकर आया है उसे तीन साल तक रहने की संभावना काफी कम है। कैडर की वजह से जल्द उंची कुर्सी मिल सकती है। यही सोच-सोच कर खुद को ढाढ़स बंधा रहे। बता दें मंत्री जी दो-दो विभाग का जिम्मा संभाल रहे हैं। दो विभागों में एक तो मिठास वाला डिपार्टमेंट है।वैसे और बता दें कि वे बड़बोले माने जाते हैं और एक से अधिक बार मंत्री बने हैं।