दिग्विजय सिंह की जीत का दावा करने वाले मिर्ची बाबा लेगें जल समाधि, डीएम को पत्र लिखकर मांगी अनुमति

दिग्विजय सिंह की जीत का दावा करने वाले मिर्ची बाबा लेगें जल समाधि, डीएम को पत्र लिखकर मांगी अनुमति

NEWS4NATION DESK : लोकसभा चुनाव के दौरान चर्चा में आए मिर्ची बाबा ने जल समाधि लेने की बात की है। इसके लिए उन्होंने भोपाल के जिलाधिकारी को पत्र लिखकर अनुमति दिये जाने की मांग की है। 

बता दें कि पूर्व महामंडलेश्वर बाबा वैराज्ञानंद गिरी उर्फ मिर्ची बाबा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का भोपाल संसदीय सीट से जीत का दावा कर चर्चा में आए थें। बाबा ने एलान किया था कि अगर दिग्विजय सिंह की जीत नहीं हुई तो वे जल समाधि ले लेंगे। 

लोकसभा चुनाव में भोपाल सीट से दिग्विजय सिंह को बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा। वहीं 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद बाबा वैराज्ञानंद गिरी अचानक गायब हो गए थे।
 
 भोपाल जिला अधिकारी को लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि वो अभी कामाख्या मंदिर (असम) में तपस्यारत हैं। वो 16 जून को दोपहर 2 बजकर 11 मिनिट पर जल समाधि लेना चाहते हैं।
 
 दरअसल, बाबा वैराज्ञानंद उर्फ मिर्ची बाबा नेमिर्ची हवनकर दिग्विजय सिंह की जीत का दावा किया था। उन्होंने कहा था कि मिर्ची हवन करने से दिग्विजय सिंह की जीत सुनिश्चित होगी। इस हवन में कुल 5 क्विंटल मिर्च डाली गई थी। साथ ही उन्होंने यह संकल्प भी लिया था कि अगर दिग्विजय सिंह नहीं जीते, तो वो जिंदा जल समाधि ले लेंगे।
 
वहीं, मिर्ची हवन के दौरान विवाद बढ़ता देख निरंजनी अखाड़े नेवैराज्ञानंद को निष्कासित कर दिया था। बाबा वैराज्ञानंदपंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के महामंडलेश्वर थे। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा था कि स्वामी वैराग्यानंद का कार्य गलत था। उनका आचरण साधु-संतों की मर्यादा के खिलाफ था।

बता दें किबाबा वैराज्ञानंद के कई आश्रम गुजरात और मध्य प्रदेश में हैं।उन्हेंदिग्विजय सिंह का करीबी बताया जाता है।
 
 

Find Us on Facebook

Trending News