BIHAR NEWS : मायके से लौट रही महिला का बदमाशों ने किया अपहरण, शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म

BIHAR NEWS : मायके से लौट रही महिला का बदमाशों ने किया अपहरण, शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म

SUPAUL : जिले के छातापुर थाना क्षेत्र अन्तर्गत मोहन पूर वार्ड नम्बर 01 निवासी महिला ने एसपी मनोज कुमार को प्रार्थना पत्र देकर करीब दो महिनों तक तीन व्यक्ति पर अपहरण कर शादी करने का झांसा देकर यौन शोषण करने का आरोप लगाया। आरोपी ने अब शादी करने से इंकार कर दिया है। पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाई है।

महिला ने बुधवार को एसपी कार्यलय पहुंचकर एसपी मनोज कुमार के नाम प्रार्थना पत्र देकर बताया कि बीते 3 जुलाई को करीब 10 बजे मैं अपने मायके रामघाट कोसकापूर थाना नरपतगंज जिला अरिरया से अपने ससुराल मोहनपूर कटहरा आ रही थी।  रास्ते में ही रामपूर पंचायत नहर के पास खड़े मोहम्मद इमतियाज आलम उर्फ सोनु, मोहम्मद साबिर कौशर, मोहम्मद साजीद सरवर सहित दो अन्य अज्ञात लोग जिसे मै नही पहचान पाई। सभी ने मिलकर मुझे पकड़ लिया और मुँह में कपड़ा डाल दिया। जिससे मैं चीख- चिल्ला भी नही पाई। उन्होंने पास मे खड़ी एक चार चक्का गाड़ी पर बैठा लिया और मेरे आखों में पट्टी बांध दिया और गाड़ी चलने लगी। जब मेरे आखों में पट्टी खोली गई तो मैं अपने आप को एक कमरे में बंद पाई। वहां तीनों मौजूद थे। 

इमतियाज आलम ने मुझे शादी का प्रलोभन व दिलासा दिया। इसके बाद मुझे एक कमरे में बंद कर दिया और तीनों ने मेरे साथ बारी - बारी से दुष्कर्म किया। यह सिलसिला लगातार चलता रहा। उसके बाद 21 अगस्त को करीब पाँच बजे सुबह तीनों ने मेरे हाथ और आखों में पट्टी बांध दिया और मुझे उठाकर एक गाड़ी में डाल दिया। करीब एक बजे दिन में मेरी हाथ और आखों से पट्टी खोली। उसके बाद गाड़ी रोककर नीचे ढकेल कर रोड पर गिरा दिया। उसके बाद तीनों अपनी गाड़ी लेकर भाग निकले। मुझे घमकी भी दिया। किसी को बताया तो जान मार देंगे। मैं डर के मारे वहां से पैदल भागने लगी। कुछ दुर पैदल चलने के बाद मैं नरपतगंज बाज़ार पहुंची। वहाँ से मैंने अपने परिजनों को फोन किया। मेरे परिजन आए और मुझे घर ले गए।  मैंने घर वाले को इस घटना की जानकारी दी। उसके बाद स्थानीय थाना छातापुर पहुंची।  मैंने थाना प्रभारी को आपति सुनाईं । उसके बाद थाने में लिखित आवेदन भी दिए।  लेकिन थाना प्रभारी न्याय करने के बदले मुझें थाना दौड़ाता रहा।  थाना अध्यक्ष के द्वारा फटकार कर भगा दिया गया।  एक महीनो तक महिला न्याय के लिए थाने चक्कर लगाते रही।  लेकिन कार्रवाई के बदले  फटकार मिला। हालांकि एसपी ने मामले को संज्ञान लेते हुए पुलिस इंस्पेक्टर त्रिवेणीगंज को कार्रवाई करने की आदेश दिया है।  

सुपौल से संवाददाता पप्पू आलम की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News