छपरा के एक गांव से निकलकर बनी मिस ओडिशा, जब पहली बार अपने ननिहाल लौटी तो पूरे गांव में मना जश्न

छपरा के एक गांव से निकलकर बनी मिस ओडिशा, जब पहली बार अपने ननिहाल लौटी तो पूरे गांव में मना जश्न

CHHAPRA : सारण की बेटी के मिस ओड़िशा टॉपर बनने के बाद छठ पूजा मे ननिहाल अनवल पहुंची जिसके बाद पूरे गांव मे  जश्न  मना जलालपुर प्रखंड के सीमावर्ती गांव दामोदरपुर की तानिया जुलाई मे मिस ओडिसा प्रतियोगिता मे मिश रनर अप चयनित हुई थी। ग्रामीणों ने अपनी होनहार नतिनी को मिठाईयां खिला उसे बधाई दी।

बताते चलें कि पिता हरेन्द्र सिंह तथा माता अनीता सिंह की पुत्री तानिया नगरा प्रखंड के दामोदर गांव की मूल निवासी है तथा उसकी पढ़ाई लिखाई ओड़िशा में ही हुई है। बचपन से तानिया को कुछ कर गुजरने का सपना था। वह मध्यम वर्गीय परिवार से थी इसलिए उसके जीवन में काफ़ी कठिनाइयो का सामना करना पड़ा। काफी संघर्षों के बाद तानिया 2022 में आखिरकार अपने सपने को हासिल कर ली। खुशी तो तब हुई जब तानिया पहली बार मिस ओड़िशा रनर अप 2022 बनी |उसे डायमंड बैच, मेडल, और सर्टिफिकेट देकर उसे सम्मानित किया गया।

तानिया ने बिहार के छपरा का नाम रौशन किया। तानिया को मिस इंडिया ग्लोब के लिए भी चयनित किया गया।तानिया को पवन कुमार सिंह ,विनोद कुमार ब्रजेश सिंह उत्तम कुमार सहित ग्रामवासियों ने उसे बधाई दी है।

बिहार की लड़कियों के टैलेंट को बढ़ाएं

मिस ओडिशा  बनने के बाद पहली बार अपने ननिहाल पहुंची तानिया ने बताया कि बिहार की लड़कियों में भी बहुत टैलेंट है। जरुरत है कि उनके टैलेंट को आगे बढ़ने के लिए परिवार का सपोर्ट मिले। तानिया का कहना है कि बिहार की बेटियों को लेकर सोच बदलने की जरुरत है। मिस इंडिया ग्लो के लिए जाने की तैयारी कर रही तानिया ने बिहार की लड़कियों के लिए कहा कि उन्हें अपना टैलेंट दुनिया को दिखाना चाहिए। अगर अपना टैलेंट दुनिया को नहीं दिखाएंगी तो कभी भी वह भी कामयाब नहीं हो सकती हैं।


Find Us on Facebook

Trending News