मॉब लिंचिंग : बच्चा चोरी के शक पर लोगों ने की महिला की जमकर पिटाई, पुलिस पर किया पथराव

मॉब लिंचिंग : बच्चा चोरी के शक पर लोगों ने की महिला की जमकर पिटाई, पुलिस पर किया पथराव

GIRIDIH : झारखंड के गिरिडीह मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के बनियाडीह स्थित यूनियन बैंक ब्रांच में पैसा निकालने पहुंचीं महिलाओं के बीच हुई गलतफहमी से एक बड़ी घटना घट गई. यहां अचानक बच्चा चोर की अफवाह फैल गयी और इसके शक में भीड़ ने एक महिला को बंधक बनाकर उसकी जमकर पिटाई की. महिला को बचाने पहुंची पुलिस पर भी लोगों ने पथराव कर दिया, जिससे पुलिस वाहन का शीशा टूट गया. महिला को बचाने में पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी.

इस घटना के सम्बन्ध में बताया जा रहा है कि अकदोनीकला गांव की ललिता देवी अपनी एक बेटी और दुधमुंहे बच्चे को लेकर बनियाडीह स्थित यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ब्रांच में पैसा निकालने गयी थी. ललिता अपनी आठ वर्ष की बेटी और दो साल के बेटे को बैंक के बाहर छोड़कर अंदर चली गयी. ललिता देवी बैंक से बाहर निकली तो देखा कि उसका बच्चा बेटी के पास नहीं है. इस बीच ललिता की नजर एक दूसरी महिला पर पड़ी, जो उसके बच्चे को गोद में लिए हुई थी. इसके बाद ललिता देवी को शक हुआ की महिला उसके बेटे को चुरा रही है. इसी शक पर ललिता ने महिला को पकड़ लिया और उसे अकदोनी ले जाने लगी. इस बीच अकदोनी गांव में अफवाह फैल गयी कि ललिता के बच्चे को चोरी करते एक महिला को पकड़ा गया है. इसके बाद कुछ लोग महिला को बच्चा चोर कहने लगे. देखते ही देखते फिर भीड़ महिला पर टूट पड़ी.

बच्चा चोरी के आरोप में महिला के पकड़े जाने और भीड़ द्वारा उसकी पिटाई किए जाने की सूचना पर एसडीपीओ सदर जीतवाहन उरांव और थाना प्रभारी रत्नेश मोहन ठाकुर ने पुलिस बल को अकदोनी भेजा. जब तक पुलिस अकदोनी पहुंची, तब तक वहां दो सौ से अधिक लोगों की भीड़ एकत्रित हो चुकी थी. भीड़ आरोपी महिला को घेरकर पिटाई कर रही थी. एएसआई हलधर ने आरोपी महिला को बचाने और आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास किया तो भीड़ ने पुलिसकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दी. स्थित अनियंत्रित होती देख पुलिस अधिकारी और जवान पीछे हटने लगे तो कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. लगभग पांच मिनट तक पुलिस पर पत्थर चलते रहे. पुलिस टीम फौरन गांव से निकली. लेकिन पथराव से पुलिस के वाहन का शीशा टूट गया.

पुलिस पर पथराव और स्थिति अनियंत्रित होने की जानकारी मिलते ही एसडीपीओ सदर, थाना प्रभारी, एएसआई जितेन्द्र कुमार, संजय सिंह समेत कई पुलिस अधिकारी जवानों के साथ अकदोनी पहुंचे. इसके बाद भीड़ से महिला को निकालकर किसी तरह थाने पहुंचाया गया. साथ ही गांव से दो महिलाओं एवं एक पुरुष को हिरासत में ले लिया. वहीं आरोप लगानेवाली ललिता देवी और उसके पति संजय दास को भी पुलिस थाना ले जाकर पूछताछ कर रही है.

आरोपी महिला लीलावती देवी मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चुंजका की रहनेवाली है. थाना लाने के बाद पूछताछ की गयी. पूछताछ में आरोपी महिला ने पुलिस को बताया कि वह भी बैंक पैसा निकालने आयी थी. दूसरी महिला का बच्चा रोते देख उसे उठाकर खेलाने लगी. यही बात बच्चे की मां को नागवार लगा और सभी मिलकर मारपीट करने लगे.

गिरिडीह से अभिषेक की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News