अब मोबाइल एप से होगी 2021 में होने वाली जनगणना, सभी नागरिकों के लिए होगी सिर्फ एक आईडी!

अब मोबाइल एप से होगी 2021 में होने वाली जनगणना, सभी नागरिकों के लिए होगी सिर्फ एक आईडी!

गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अब 2021 में होने वाले जनगणना को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि  वर्ष 2021 में होने वाली जनगणना में मोबाइल ऐप का इस्तेमाल होगा। शाह ने कहा कि इससे हमें कागज से डिजिटल जनगणना की तरफ जाने में मदद मिलेगी। गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान यह बात कही।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 2021 में होने वाली जनगणना के दौरान एक देश एक पहचान पत्र के सुझाव का प्रस्ताव दिया है। गृह मंत्रीअमित शाह सोमवार को 2021 में होने वाली 16वीं जनगणना के बारे में बोल रहे थे। गृह मंत्री ने ऐसे मल्टीपर्पज पहचान पत्र के सुझाव का प्रस्ताव दिया जो अकेला ही पासपोर्ट, आधार, वोटर कार्ड, बैंक खाता और ड्राइविंग लाइसेंसका काम करेगा।

गृह मंत्री अमित शाह ने बताया कि इस बार सरकार अब तक हुईं सभी जनगणनाओं में सबसे ज्यादा व्यय इस बार करने जा रही है। इस बार सरकार लगभग 12 हजार करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है। 2021 में जो जनगणना होगी इसमें हम मोबाइल ऐप का भी प्रयोग करेंगे। जनगणना का डिजिटल डेटा होने से अनेक प्रकार के विश्लेषण के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं।

अमित शाह ने कहा कि सन् 1865 में सबसे पहले जनगणना की गई तब से लेकर आज 16वीं जनगणना होने जा रही है। कई बदलाव और नई पद्धति के बाद आज जनगणना डिजिटल होने जा रही है।

Find Us on Facebook

Trending News