मोदी का नया कैबिनेट : इमेज को किया दरकिनार, मेरिट और फिटनेस को दी गई प्राथमिकता

मोदी का नया कैबिनेट : इमेज को किया दरकिनार, मेरिट और फिटनेस को दी गई प्राथमिकता

NEWS4NATION DESK : पूर्ण बहुमत के साथ केंद्र में लौटी बीजेपी ने गुरुवार को अपनी दूसरी पारी का आगाज कर दिया। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कल 30 मई को नये कैबिनेट के मंत्रियों ने भी शपथ ली।

शपथ समारोह से पहले ही यह उम्मीद की जा रही थी कि पुराने और अनुभवी चेहरों को एकबार फिर मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी, लेकिन इसबार ऐसा नहीं हुआ। मोदी ने अपनी जो नई टीम तैयार की है। उसमें कई अनुभवी चेहरों को दरकिनार कर नये चेहरों को जगह दी गई है। 

अपने मंत्रिमंडल में पुराने और अनुभवी चेहरों न चुनकर पीएम ने साफ कर दिया है कि उन्होंने अपने मंत्रिमंडल को इमेज के आधार पर नहीं बल्कि 'मेरिट (योग्यता)' और फिटनेस के आधार पर अपनी टीम तैयारी की है।

एनडीए का नेतृत्व करने वाली बीजेपी ने इस बार लोकसभा में 303 सीटें हासिल कर अपनी ताकत पहले से और भी ज्यादा मजबूत की है और इसकी झलक गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी ने अपने नए कैबिनेट की शक्ल पेश करते हुए दिखा दी। इस बार मोदी ने अपने नए कैबिनेट को जो रूप दिया है उसमें पिछली सरकार के 40 फीसदी मंत्रियों को जगह नहीं मिली है। इस बार प्रधानमंत्री ने वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज और सुरेश प्रभु को भी अपनी नई कैबिनेट के लिए नहीं चुना। इसके अलावा उन्होंने पूर्व विदेश सचिव एस. जयशंकर को अपने कैबिनेट में चुनकर जानकारों को हैरान कर दिया।

इस शपथ समारोह में प्रधानमंत्री मोदी के अलावा 57 मंत्रियों (पीएम समेत 58) ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। इस कार्यक्रम में 24 ने कैबिनेट मंत्री के रूप में, 9 ने स्वतंत्र प्रभार, जबकि 24 ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली। हालांकि किस मंत्री को कौन सा पोर्टफोलियो मिला है यह अभी साफ नहीं हुआ है। शपथ लेने वाले मंत्रियों में किसे कौन सा विभाग मिलता है इसकी तस्वीर आज शुक्रवार से ही साफ होना शुरू होगी।

Find Us on Facebook

Trending News