114 करोड़ व्यूअरशिप वाले 8 यूट्यूब चैनलों को मोदी सरकार ने किया प्रतिबंधित, अब तक 78 चैनल हो चुके हैं ब्लॉक

114 करोड़ व्यूअरशिप वाले 8 यूट्यूब चैनलों को मोदी सरकार ने किया प्रतिबंधित, अब तक 78 चैनल हो चुके हैं ब्लॉक

पटना. केंद्र सरकार ने यूट्यूब चैनलों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए देश के 8 लोकप्रिय यूट्यूब चैनलों को बैन कर दिया है. मोदी सरकार ने दावा किया है कि इन चैनलों द्वारा देश विरोधी बातें प्रसारित की जा रही है. इन पर भ्रामक खबरों को चलाकर देश की छवि को नुकसान पहुंचाया जा रहा था. जिन आठ यूट्यूब चैनलों को सरकार ने बैन किया है, उनकी कुल दर्शकों की संख्या 114 करोड़ से अधिक बतायी जा रही है. सरकार ने इन चैनलों को दुष्प्रचार फैलाने के लिए प्रतिबंधित कर दिया है. सरकार ने एक प्रेस बयान में यह घोषणा की.

बैन किये गए यूट्यूब के कुल समाचार चैनलों में से सात भारत से हैं और एक पाकिस्तान का है. सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ब्लॉक किये गए चैनलों द्वारा भारत विरोधी फेक कंटेंट का मौद्रीकरण किया जा रहा था. सरकार ने कहा कि चैनल भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेशी संबंधों और सार्वजनिक व्यवस्था के बारे में गलत सूचना फैला रहे थे.

जिन चैनलों को बैन किया गया है उसमें Loktantra TV (भारत), U&V TV (भारत), AM Razvi (भारत), Gouravshali Pawan Mithilanchal (भारत), SeeTop5TH (भारत), Sarkari Update (भारत), Sab Kuch Dekho (भारत), News ki Dunya (पाकिस्तान) है. इसमें इंडियन आर्मी और जम्मू-कश्मीर जैसे टॉपिक पर फेक न्यूज पोस्ट करने का आरोप लगाया गया है. 

भारत सरकार ने इसी साल अप्रैल में भी इसी तरह 16 यूट्यूब चैनल्स को ब्लॉक किया था। इन चैनल्स में पाकिस्तान के छह समाचार चैनल और भारत के 10 समाचार चैनल शामिल थे। हाल ही सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने 22 यूट्यूब चैनल्स को ब्लॉक किया था।सरकार ने बताया था कि ये भारत की सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने वाली फेक न्यूज फैला रहे थे। ब्लॉक होने वाले 22 चैनल्स में से चार चैनल पाकिस्तान से ऑपरेट हो रहे थे। दिसंबर 2021 से अब तक सरकार आईटी नियम के तहत 78 यूट्यूब चैनल ब्लॉक कर चुकी है।


Find Us on Facebook

Trending News