मोदी सरकार ने इसरो वैज्ञानिकों के वेतन कटौती का दिया आदेश , वैज्ञानिकों में भारी नाराजगी

मोदी सरकार ने इसरो वैज्ञानिकों के वेतन कटौती का दिया आदेश , वैज्ञानिकों में भारी नाराजगी

NEWS4NATION DESK : चन्द्रयान 2 के सफल प्रक्षेपण को अंजाम देने वाले वैज्ञानिकों की उपलब्धियों पर जब पूरा देश गर्व से फूला नहीं समा रहा इसी समय एक बुरी खबर आई है। 

केंद्र सरकार ने एक आदेश जारी करते हुए कहा है कि 1 जुलाई 2019 से इसरो के वैज्ञानिकों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि बंद हो जाएगी। केंद्र सरकार के इस आदेश के बाद एफ और जी श्रेणी के वैज्ञानिकों को प्रोत्साहन राशि अब नहीं मिलेगी 

गौरतलब है कि इसरो में करीब 16000 वैज्ञानिक और इंजीनियर काम करते हैं। मोदी सरकार के इस आदेश से इसरो के तकरीबन 85 से 90 फ़ीसदी इंजीनियरों और वैज्ञानिकों के वेतन में 10 हजार रुपये तक कि कमी आ जायेगी।

मोदी सरकार के इस आदेश से इसरो वैज्ञानिकों में काफी नाराजगी है। इसरो वैज्ञानिकों के संगठन एस्पेस इंजीनियर एसोसिएशन ने प्रोत्साहन राशि में कटौती होने के बाद इसरो के प्रमुख डॉ.केसीआई को एक पत्र प्रेषित कर मांग किया है कि प्रोत्साहन राशि में कटौती वाले केंद्र सरकार के आदेश को रद्द करने में वैज्ञानिकों की मदद करें। 

स्पेस इंजीनियर एसोसिएशन के अध्यक्ष ए मणिरमन ने कहा है कि वैज्ञानिकों के पास वेतन के अलावा पैसा कमाने का कोई अन्य जरिया नहीं है। अतः इसे ध्यान में रखते हुए इस कटौती को रद्द किया जाए।

बता दें कि इसरो वैज्ञानिकों के लिए प्रोत्साहन राशि के तौर पर दी जाने वाली अतिरिक्त वेतन वृद्धि की अनुमति राष्ट्रपति ने दी थी, ताकि देश के प्रतिभाओं को वैज्ञानिक बनने का प्रोत्साहन मिले। 

गौरतलब है की अतिरिक्त वेतन वृद्धि को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 1996 में लागू किया गया था।

Find Us on Facebook

Trending News