मोकामा विधानसभा उपचुनाव: पटना डीएम ने ईवीएम-वीवीपैट के माॉकपोल का किया निरीक्षण, जानिए भाजपा-राजद की क्या है तैयारी

मोकामा विधानसभा उपचुनाव: पटना डीएम ने ईवीएम-वीवीपैट के माॉकपोल का किया निरीक्षण, जानिए भाजपा-राजद की क्या है तैयारी

पटना. मोकामा विधानसभा उपचुनाव के लिए पटना जिला प्रशासन ने तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है. पटना के जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी डॉ. चन्द्रशेखर सिंह द्वारा मंगलवार को 178- मोकामा विधानसभा उपचुनाव, 2022 हेतु वीवीपैट गोदाम, फुलवारी शरीफ प्रखंड परिसर, पटना में ईवीएम-वीवीपैट के एफएलसी (प्रथम-स्तरीय जांच) के दौरान माॉकपोल का निरीक्षण किया गया. जानकारी के अनुसार राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मतदान कराने के लिए 700 ईवीएम और वीवीपैट मंगाई है. जिनकी फर्स्ट लेवल चेकिंग का काम पिछले महीने 26 अगस्त से चल रहा है. जिला प्रशासन के मुताबिक मोकामा विधानसभा में 289 मतदान केंद्र हैं, जहां 2,79,825 मतदाता हैं. 

दरअसल, मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह की विधानसभा सदस्यता खत्म हो गई है. एमपी-एमएलए कोर्ट में अनंत सिंह को 10 साल की सजा सुनाई गई थी. उनके घर से एके 47 और हैंड ग्रेनेड मिलने के बाद कार्रवाई की गई थी. 14 जून को स्पेशल कोर्ट में सुनवाई हुई थी जिसमें उन्हें दोषी पाया गया था. इसके बाद कोर्ट ने 21 जून को 10 साल की सजा सुनाई. अनंत सिंह करीब 34 महीने से पटना के बेऊर जेल में बंद हैं.

अनंत सिंह की सदस्यता जाने के बाद मोकामा में उपचुनाव की सरगर्मी बढ़ गई है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने 4 और 5 सितम्बर को मोकामा में प्रवास किया था. उनके साथ नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा, ऋतुराज सिन्हा, मृत्युंजय झा आदि भी मोकामा में कार्यकर्ताओं से मिले. संजय जायसवाल ने साफ किया कि इस बार के चुनाव में भाजपा अपने बलबूते मोकामा में चुनाव में उतरेगी और भाजपा का उम्मीदवार होगा. 

दरअसल, विधानसभा चुनाव 2020 में मोकामा में एनडीए यानी भाजपा और जदयू के साझा उम्मीदवार को राजद उम्मीदवार अनंत सिंह से हार का सामना करना पड़ा था. मोकामा विधानसभा में 2020 में कुल 52.99 प्रतिशत वोट पड़े. 2020 में राष्ट्रीय जनता दल के अनंत सिंह ने जनता दल यूनाइटेड के राजीव लोचन नारायण सिंह को 35,757 वोटों से हराया था. भाजपा की ओर से आखिरी बार मोकामा में 1995 में उम्मीदवार उतारा गया था. तब प्रमोद कुमार को पार्टी ने टिकट दिया था लेकिन उन्हें करारी हार मिली थी. बाद में भाजपा कभी भी अपने बलबूते चुनाव में नहीं उतरी. वहीं राजद से अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी को उपचुनाव में उम्मीदवार बनाने की चर्चा है. 


Find Us on Facebook

Trending News