मानसून की रफ्तार हुई तेज, अंडमान- निकोबार में दस्तक, 27 को पहुंच जाएगा केरल

मानसून की रफ्तार हुई तेज, अंडमान- निकोबार में दस्तक, 27 को पहुंच जाएगा केरल

DESK. भीषण गर्मी और लू के थपेड़ों से परेशान राज्यों के लिए बड़ी राहत की खबर है. देश में इस साल मानसून समय से पूर्व ही पुरे देश में आने की प्रबल संभावना है. मानसून समय से एक हफ्ते पहले यानी 22 मई के बजाय 15 मई को ही अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पहुंच गया है. अब भी इसकी रफ्तार सामान्य बनी हुई है. अगर मानसून की गति यही रही तो केरल में मानसून का दस्तक 27 मई को हो जाएगा. केरल में आम तौर पर 1 जून को मानसून पहुंचने का आदर्श समय माना जाता है. 

क्षिण-पश्चिम मानसून दक्षिण अंडमान सागर और उसके आसपास के क्षेत्रों में आगे बढ़ गया है. दक्षिण भारत के राज्यों में जून के पहले सप्ताह में मानसून पूरी तरह से फ़ैल जाने की संभावना है. वहीं उसके बाद पश्चिम और पूर्वी भारत में भी मानसून की बारिश होने लगेगी. पूर्वी भारत के सभी राज्यों में जून के पहले पखवाड़े में मानसून की झमाझम बारिश होने का पूर्वानुमान है. 

वहीं, चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और आसपास के क्षेत्र पर सक्रिय है. यह समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है और ऊंचाई के साथ दक्षिण-पश्चिम की ओर झुका हुआ है. भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, इस चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से एक ट्रफ रेखा पूर्वी उत्तर प्रदेश की तलहटी तक फैली हुई है. इस कारण देश के कई हिस्सों में अगले एक सप्ताह तक हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है. 


Find Us on Facebook

Trending News