विदेश से लौटे 100 से अधिक यात्री हुए ‘लापता’, बन सकते हैं भारत में ओमिक्रॉन संक्रमण बढ़ने का कारण

विदेश से लौटे 100 से अधिक यात्री हुए ‘लापता’, बन सकते हैं भारत में ओमिक्रॉन संक्रमण बढ़ने का कारण

मुम्बई. कोविड-19 के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खतरा तेजी से बढ़ता जा रहा है. बावजूद इसके देश में ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो इस खतरे को बढ़ावा देने में लगे हैं. मुम्बई में ऐसे 100 लोगों के बारे में पता चला है जो विदेश से आए और अब लापता हो गए हैं. इन लोगों को जब जांच और आगे की प्रक्रिया के लिए फोन पर सम्पर्क किया गया तब उनके फोन स्विच ऑफ मिले. 

कल्याण डोम्बिवली म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन के प्रमुख विजय सूर्यवंशी के अनुसार विदेश से ठाणे जिले में आए 295 विदेशी यात्रियों में से 109 यात्रियों का कुछ भी पता नहीं चल पा रहा है. इनमें से कुछ यात्रियों का मोबाइल फोन स्विच ऑफ आया है. वहीं कई यात्रियों ने जो पता दिया था उसे पते पर ताला लटका मिला. 

विदेशी यात्रियों के इस प्रकार ट्रेस नहीं होने से मुम्बई प्रशासन की चिंता बढ़ गई है. हालांकि इन यात्रियों के ओमिक्रॉन संक्रमित होने की कोई पुष्टि नहीं है लेकिन जिस प्रकार डर की वजह से 100 से ज्यादा यात्रियों का कोई अता पता नहीं चल रहा है उससे स्पष्ट है कि अगर आने वाले दिनों में संक्रमण का कोई खतरा बढ़ता है तो ऐसे यात्रियों की भूमिका से इंकार नहीं कर सकते. 

दरअसल ओमिक्रॉन खतरे वाले देशों से यात्रा कर भारत आने वाले लोगों को 7 दिन के होम क्वारन्टीन में रहना जरुरी है। मुम्बई में भी यही प्रावधान है. बाद में 8वें दिन उनका कोविड-19 टेस्ट किया जाता है। अगर उनकी रिपोर्ट निगेटिव आती है तो उन्हें 7 दिनों के होम क्वारन्टाइन में रहना होता है। ऐसे ही 100 से ज्यादा लोगों का अब कोई अता पता नहीं मिल रहा है. 


Find Us on Facebook

Trending News