कैमूर पहाड़ी पर स्थित मां ताराचंडी शक्तिपीठ का है खास महत्व, नवरात्रि पर लाखों की संख्या में पहुंचते हैं भक्त, इस बार की गई है खास तैयारी

 कैमूर पहाड़ी पर स्थित मां ताराचंडी शक्तिपीठ का है खास महत्व, नवरात्रि पर लाखों की संख्या में पहुंचते हैं भक्त, इस बार की गई है खास तैयारी

SASARAM : नवरात्रि के त्योहार पर सासाराम स्थित मां ताराचंडी देवी स्थान पर आज सुबह से ही भक्तों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई है। कैमूर की पहाड़ी पर स्थित ताराचंडी धाम को इस अवसर पर खास सजावट की गई है। वहीं नवरात्रि के दौरान आनेवाले नौ दिनों तक भक्तों की भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रबंधन ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए हैं। जहां पर्याप्त पुलिस बल लगाए गए हैं, वहीं भक्तो को किसी प्रकार से परेशानी से बचाने के लिए मंदिर से जुड़े सदस्यों को सक्रिय रहने के लिए कहा गया है। 

बता दें कि रोहतास जिला के स्थित मां ताराचंडी देवी स्थान की महिमा अपरम्पार है। कैमूर पहाडी के तलहटी मे स्थित इस देवी के प्रति यहा के लोगो की काफी श्रद्धा है।  यहां देवी के तारा रूप की पूजा होती है।  खासकर नवरात्री मे इस देवी स्थान पर काफी दूर दराज से पहुंचकर श्रद्धालु अपने मनोकामना हेतू अखंड दीप जलाते हैं।  जिसका बड़े महत्व बड़ी महत्व माना जाता है।

ये दरबार मां ताराचंडी का है। नवरात्र को लेकर यहां साजो सज्जा की गयी है। वैसे तो सालोभर भक्तो का यहां तांता लगा रहता है। लेकिन नवरात्र मे इसकी महत्ता काफी बढ जाती है। दूर दूर से लोग नवरात्र मे यहां रह कर पुजा आराधना करते है। लोगो की मान्यता है कि मां ताराचंडी देवी जब प्रसन्न होती है तो सभी का कल्याण करती है। इन्हे मनोकामना सिद्दीदेवी भी कहा जाता है।

 गया और वाराणसी के बीच मे स्थित कैमूर पहाडी के नीचे ये माता-गुफा के अंदर सदियो से विद्यमान है। शास्त्रों में 8वीं सदी मे भी इस देवी स्थान के पुजित होने के प्रमाण मिलता है। किदवंतियां है कि लोग इसे भगवान परशुराम पुजित देवी स्थान की संज्ञा देते है। सबसे बडी बात है की इस देवी पर पुरी-हलुआ का प्रसाद चढता है। मां ताराचंडी पुजा कमिटी यहां आनेवाले श्रद्धालुओ के लिय लगातार सेवा मे लगी रहती है।

वैसे तो सालो भर यहां भक्तो का तांता लगा रहता है। लेकिन नवरात्री मे इस दरबार का महत्व ही कुछ और है। लोगो में इस देवी स्थान के प्रति गजब की श्रद्धा है। 

Find Us on Facebook

Trending News