मोतिहारी सेंट्रल जेल के 1000 निरक्षर कैदी होंगे अब साक्षर, जेल के अंदर ही बने पाठशाला में लग रही उनकी क्लास

मोतिहारी सेंट्रल जेल के 1000 निरक्षर कैदी होंगे अब साक्षर, जेल के अंदर ही बने पाठशाला में लग रही उनकी क्लास

Motihar : मोतिहारी सेंट्रल जेल प्रशासन की ओर से एक अनोखी और बड़ी पहल की गई है। जेल प्रशासन ने जेल में कैद तकरीबन 1000 निरक्षर कैदियों को साक्षर बनाने का बीड़ा उठाया है। इसकी शुरुआत मंगलवार 8 सितंबर से शुरु कर दी गई है। 

विश्व साक्षरता दिवस पर कैदियों को साक्षर बनाने की इस कार्यक्रम की शुरुआत की गई। जेल प्रशासन ने अपने इस कार्यक्रम का स्लोगन दिया है पढ़ेंगे पढ़ाएंगे,  जेल को साक्षर बनायेगे। जेल प्रशासन के इस अनोखी पहल से कैदियों में भी बड़ा उत्साह है।  

जेल अधीक्षक बिधु कुमार ने बताया कि निरक्षर कैदियों को साक्षर बनाने के लिए चार माह से तैयारी की जा रही है। जेल के एक वार्ड को पाठशाला बनाया गया है। शिक्षक  के रूप में एक सजायावर कैदी व एक सिपाही को जिमेवारी दी गई है। दो शिफ्टों में साढ़े दस से साढ़े 11 बजे और साढ़े तीन से साढ़े चार बजे ढाई-ढाई सौ बन्दियों को पढ़ाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि कैदियों को साक्षर बनाकर उनकी सोच को बदलने का प्रयास किया जा रहा है। कैदियों के पढ़ने के लिए कॉपी, कलम, स्लेट सहित सभी सामग्री जेल प्रशासन उपलब्ध कराएगी। प्रथम फेज में साक्षर बनाने के बाद परीक्षा लिया जाएगा। सफल कैदियों को पुरस्कार देकर हौसला को अफजाई किया जाएगा।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News