तटबंध बचाने के लिए बिहार के एक डीएम ने बालू भरा बोरा सर पर उठाकर किया श्रमदान...

तटबंध बचाने के लिए बिहार के एक डीएम ने बालू भरा बोरा सर पर उठाकर किया श्रमदान...

PATNA: बिहार में लगातार हो रही बारिश से कई इलाकों में बाढ़ के हालात हो गए हैं। खासकर नेपाल से आने वाली पानी की वजह से सीमावर्ती जिलों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।

पूर्वीचंपारण में भी बाढ़ की वजह से जिले के पूर्वी भाग के कई गांव घिर गए हैं। कई तटबंधों पर प्रेशर लगातार बना हुआ है।पूर्वीचंपारण के डीएम रमण कुमार खुद तटबंधों पर नजर रखे हुए हैं।उनकी कई तस्वीर सामने आई है जिसमें वे तटबंध बचाने को लेकर खुद हीं बोरा में भरकर बालू ले जा रहे हैं।

बताया जाता है कि यह तस्वीर जिले के पचपकड़ी के खोड़ीपाकड की है, जहां डीएम रमण कुमार अपने मातहतों के साथ पहुंचे और खुद बोरी में भरे बालू को उठाकर घाट तक ले जाने लगे।डीएम की देखा-देखी कई अन्य अधिकारी भी इस काम में जुट गए हैं। 

आपको बता दें कि मोतिहारी के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति हो गई है। मोतिहारी जिले के पूर्वी क्षेत्रों में बौराई नदियां ऊपर से बारिश नीचे से पानी मे लगातार वृद्धि पताही प्रखंड के 10 पंचायतों में घुसा बाढ़ का पानी प्रखंड मुख्यालय से आवागमन बंद। लोगों ने राहत और समुचित रोशनी की सरकार से की मांग ।स्थानीय लोगों का कहना है कि  2007 में आई प्रलयंकारी बाढ़ से भी ज्यादा भयंकर इस बार की बाढ़ लग रही है।

पताही प्रखंड के दर्जनों गांवों में पानी घुस गया है। ग्रामीण सुरक्षित स्थानों  की ओर पलायन कर रहे हैं। वहीं इस आपदा से निपटने के लिए अभीतक प्रशासन की ओर से पूरी तैयारी नहीं की गई है। जिला प्रशासन NDRF से सहयोग की मांग के लिये अब पत्र भेजेगी। 

Find Us on Facebook

Trending News