घरवालों के खिलाफ जा लड़के ने रचाई दहेज़ मुक्त शादी, गांववाले बने बाराती

घरवालों के खिलाफ जा लड़के ने रचाई दहेज़ मुक्त शादी, गांववाले बने बाराती

न्यूज़ 4 नेशन डेस्क : भगवान के दरबार में एक जोड़े शादी रचा रहे थे और उनके समर्थन में पूरा समाज था. यह मामला बुधवार की रात मोतिहारी के ढाका मंदिर में देखने को मिला.  

क्या था मामला

मोतिहारी के ढाका के एक मंदिर में विवाह को लेकर लड़का लड़की का देखा सुनी चल रहा था. दोनों पक्ष को लड़का लड़की पसंद आ गया. उसके बाद फिर लड़के के पिता ने लड़की वाले से दहेज के रूप में 50 हजार रूपए और एक बाइक की मांग रख दी, जिससे लड़की पक्ष वाले की बेचैनी बढ़ गई क्योंकि वे लोग दहेज़ देने में सक्षम नहीं थे. लड़की के पिता बीमार रहते थे और परिवार काफी गरीब था. 

दहेज़ न देने की बात सुन लड़के के पिता ने शादी से इंकार कर दिया और गुस्सा कर चला गया. इस बात की जानकारी स्थानीय लोगों को लगी और लोग मंदिर में धीरे-धीरे जुटने लगे. यह बात जैसे ही लड़के को पता चली कि दहेज़ के कारन उसकी शादी टूट रही है तो वह आगे आया और लड़का-लड़की ने दहेजमुक्त शादी करने का फैसला लिया। जोड़े के इस बात का समर्थन स्थानीय लोगों ने किया और विवाह के सभी सामान का इंतजाम कर शादी करा दी. 

स्थानीय लोगों ने अपने सहयोग से शादी के सामग्री के साथ साथ मिठाई और गाजे बाजे का भी प्रबंध किया और इस अनोखे विवाह को संपन्न कराया। खास कर युवाओं का जोश देखने लायक था, यवाओं ने खुद बाजा बजा जमकर डांस किया। सैकड़ो की संख्या में महिलाओं और लड़की पक्ष के लोग ने भी इस विवाह में भाग लिया।

Find Us on Facebook

Trending News