मोतिहारी में पूर्व कार्यपालक अभियंता की संपत्ति को ईडी ने किया जब्त....आय से अधिक संपत्ति का है मामला

मोतिहारी में पूर्व कार्यपालक अभियंता की संपत्ति को ईडी ने किया जब्त....आय से अधिक संपत्ति का है मामला

MPTIHARI इस वक्त की बड़ी खबर मोतिहारी से आ रही है जहां पीएचईडी विभाग के पूर्व कार्यपालक अभियंता की संपत्ति को जब्त किया गया है।प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने कार्यपालक अभियंता रहे रामाधार राम की संपत्ति को  जब्त किया है।जानकारी के अनुसार आय से अधिक संपत्ति के मामले में ईडी की टीम ने मोतिहारी के चिरैया थाना क्षेत्र के महुआवा और चिरैया बाजार में अवस्थित संपत्ति को जब्त किया है। जिले के चिरैया अंचल के सीओ और चिरैया पुलिस के सहयोग से पटना से आई ईडी की टीम ने  महुअवा गाँव और मोतिहारी शहर स्थित करोड़ो रूपये की भूमि पर जब्ति का तख्ती लगा दिया है।

दरअसल ईओयू की रिपोर्ट के आधार पर ईडी ने रामाधार के खिलाफ मनी लाउंड्रिंग व अन्य आरोपो  के तहत मामला दर्ज कर अवैध संपत्ति की जांच की थी। इससे पूर्व ईअओयू ने 18 जून 2013 को भ्रष्टाचार व अन्य आरोपों के तहत एफआईआर की थी। उस समय पीएचईडी के तत्कालीन कार्यपालक अभियंता रामाधार राम सीवान जिले में पोस्टेड थे। ईडी ने अक्टूबर 2017 में चार्जशीट दायर की थी।
 
 तफ्तीश में मिले अवैध संपत्ति के सबूत
 
 
ईडी की तफ्तीश में अवैध संपत्ति के पुख्ता सबूत मिले हैं। वर्ष 1979 से 2013 के बीच 34 वर्षों में रामाधार ने पद का दुरुपयोग करके भ्रष्टाचार के जरिए अपने व परिजनों के नाम पर बड़ी संख्या में चल-अचल संपत्ति अर्जित कर रखी थी। जांच में पता चला कि उनके व परिजनों के खाते में मोटी राशि (ब्लैक मनी) को जमा करके बाद में उसे निकाल लिया गया। इन खातों में रामाधार का सैलरी एकाउंट भी शामिल है। संबंधित खातों में जमा राशि को धीरे-धीरे कम राशि करके निकाला गया ताकि किसी को शक नहीं हो।

रूपेश पांडेय की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News