विजयोत्सव समारोह में बोले सांसद सुशील मोदी, बाबू कुंवर सिंह ने कभी समझौता नहीं किया

विजयोत्सव समारोह में बोले सांसद सुशील मोदी, बाबू कुंवर सिंह ने कभी समझौता नहीं किया

PATNA : राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राज्य सभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव के दुलौर (जगदीशपुर) में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बाबू वीर कुंवर सिंह के नेतृत्व में 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में भागीदारी का खामियाजा बिहार को भुगतना पड़ा। परंतु बिहार के लोगों ने हार नहीं मानी और 1942, 1947, 1974 का जेपी आंदोलन 1975 का आपातकाल विरोधी आंदोलन में हमेशा अग्रणी रहा। अंग्रेज सरकार ने ब्रिटिश सेना में बिहारियों की भर्ती बंद कर दी थी और पूर्वांचल को उपेक्षित कर दिया था। 

मोदी ने कहा कि बाबू कुंवर सिंह चाहते तो अंग्रेजों से समझौता कर अपनी सल्तनत बचा सकते थे। लेकिन 80 वर्ष की उम्र में एक बाँह कट जाने के बावजूद भी बंदूक, तोप का मुकाबला तलवार और गुरिल्ला पद्धति से करते रहे।

अंग्रेज इतिहासकार तो इसे गदर, सिपाही विद्रोह बता रहे थे। लेकिन वीर सावरकर ने पहली बार इसे प्रथम स्वतंत्रता आंदोलन करार दिया। यदि वीर कुंवर सिंह के नेतृत्व में 1857 की क्रांति नहीं होती तो 90 वर्षों बाद देश आजाद नहीं हुआ होता।

धीरज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News