अग्निपथ योजना पर बोले सांसद सुशील सिंह, कहा योजना सही, विपक्ष ने युवाओं को हिंसा के रास्ते पर धकेला

अग्निपथ योजना पर बोले सांसद सुशील सिंह, कहा योजना सही, विपक्ष ने युवाओं को हिंसा के रास्ते पर धकेला

AURANGABAD : औरंगाबाद के सांसद सुशील कुमार सिंह ने कहा है कि केंद्र सरकार की सेना में भर्ती की अग्निपथ स्कीम एक बेहतरीन योजना है। विपक्ष ने इसका नकारात्मक प्रचार कर युवाओं को हिंसा के रास्ते पर धकेलने का काम किया है। सिंह ने कहा कि विपक्ष का काम सरकार का विरोध करना है। यह उनका संवैधानिक अधिकार भी है। लेकिन अग्निपथ योजना के विरोध के मामले में विपक्ष का रवैया गैर जिम्मेदार रहा है। विपक्ष द्वारा गलत जानकारी देकर युवाओं को भड़काना गंदी राजनीति का परिचायक है और यह बेहद निंदनीय है। 

उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना एक सराहनीय योजना है। यह योजना युवाओं के लिए सेना की सेवा के चार साल बाद अन्य सरकारी एवं निजी क्षेत्रों में आकर्षक कैरियर का द्वार खोलने वाली है। कहा कि कम उम्र में युवाओं को सेना में चार साल के लिए नियुक्ति होने के साथ ही उन्हे सेवा अवधि के दौरान रोजगारपरक प्रशिक्षण मिलेगा। जिसका उन्हें सेवा के बाद अन्य क्षेत्रों में लाभ मिलेगा।

उन्होंने कहा कि विपक्ष यह गलत प्रचारित कर रहा है कि युवाओं की सेना में भर्ती मात्र चार साल के लिए ही हो रही है। वास्तविकता यह है कि चार साल की सेवा के बाद युवाओं को 11 लाख से अधिक की रकम मिलेगी, जिससे वे स्वरोजगार भी कर सकते है। साथ ही चार साल में सेना से सेवानिवृत होने वालो में 25 फीसदी सेना के नियमित जॉब में जाएंगे। जबकि शेष 75 प्रतिशत के लिए अधिमान के साथ सीआरपीएफ, सीआइएसएफ, एसएसबी, असम रायफल्स, राज्य पुलिस, निजी क्षेत्र एवं राज्य सरकारों की अन्य सेवाओं में रोजगार का अवसर उपलब्ध होगा। साथ ही चार साल की सेवा के बाद जो युवा समाज में रहकर स्वरोजगार करेंगे, वे समाज में अनुशासन का आदर्श प्रस्तुत करेंगे और लोग उनसे प्रेरणा लेंगे।

औरंगाबाद से धीरेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News