MSP पर बोले पीएम मोदी – किसान हमारे अन्नदाता, हम उनकी हर बात सुनने को तैयार

MSP पर बोले पीएम मोदी – किसान हमारे अन्नदाता, हम उनकी हर बात सुनने को तैयार

नई दिल्ली। 22 दिन से जारी किसान आंदोलन पर पहली बार पीएम मोदी ने खुलकर देश के सामने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा है कि किसान हमारे अन्नदाता हैं, उनकी हर मांग पर सुनने को तैयार हैं और उस पर बात कर सकते हैं। पीएम मोदी मध्य प्रदेश में आयोजित किसान महासम्मेलन को वीडियो कांन्फ्रेस के जरिए संबोधित कर रहे थे। 

पीएम मोदी ने कहा कुछ लोग किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर अपना राजनीति चलाना चाह रहे हैं। उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि एमएसपी न बंद होगी, न ही खत्म की जाएगी। किसानों को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा जो काम 20-25 साल पहले पूरी हो जानी चाहिए थी, उसे अप हमारी सरकार ने पूरा किया है। उन्होंने कहा कि जिन कृषि कानूनों को आज गलत बताया जा रहा है, उसके लिए  20-22 साल से देश की और राज्यों की सरकारों, किसान संगठनों ने इस पर विमर्श किया। कृषि अर्थशास्त्री, वैज्ञानिक इस क्षेत्र में सुधार की मांग करते आए हैं।

आठ साल तक दबी रही फाइल

पीएम ने कहा कि इस कानून को स्वामीनाथन आयोग के रिपोर्ट के आधार पर तैयार किया गया है। अपने शासन में वह इस फाइल को आठ साल तक दबाकर बैठे रहे। अब जब इसे लागू किया गया  किसानों को जमीन चली जाने का झूठा डर दिखा रहे हैं। किसानों को उन लोगों से जवाब मांगना चाहिए जो लोग अपने घोषणापत्र में सुधारों के वादे तो करते रहे, पर मांगों को टालते रहे, क्योंकि किसान प्राथमिकता में नहीं था।

क्रिसमस पर किसानों से करेंगे बात

जिन थोड़े से किसानों में नए कानूनों को लेकर जो आशंका बची है, वे समझें और भ्रम फैलाने वालों से सावधान रहें। मेरे कहने के बाद, सरकार के प्रयासों के बाद अगर आपके मन में शंका है, तो हम सिर झुकाकर, विनम्रता से बात करने के लिए तैयार हैं। किसान का हित हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। 25 दिसंबर को अटल जी के जयंती के मौके पर फिर इस विषय पर किसानों से बात करूंगा।

Find Us on Facebook

Trending News