बोरवेल से 31 घंटे बाद सुरक्षित निकाली गयी सना, सदर अस्पताल में चल रहा है इलाज

बोरवेल से 31 घंटे बाद सुरक्षित निकाली गयी सना, सदर अस्पताल में चल रहा है इलाज

MUNGER : करीब 31 घंटे के बाद 110 फीट गहरे बोरवेल में गिरी तीन साल की मासूम बच्ची सना को बचा लिया गया है। बोरवेल से बच्ची को निकाले जाने के बाद उसे तुरंत ही एंबुलेंस से सदर अस्पताल पहुंचाया गया। न्यूज4नेशन के पास अस्पताल की एक्सक्लूसिव तस्वीरें हैं। आप देख सकते हैं कि सना का सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है, जहां आईसीयू में डॉक्टरों की टीम उसका इलाज कर रही है। बता दें कि बोरवेल के अंदर बच्ची को बाहर से ऑक्सीजन दिया जा रहा था। बाद में बोरवेल के अंदर ही उसे बिस्कुट व पानी भी दिया गया था।

काफी मशक्क्त के बाद उसे लगभग 31 घंटों बाद बोरवेल से बाहर निकाला गया। बच्ची को बाहर निकाले जाने के बाद उसे तुरंत सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है। बता दें कि घटनास्थल पर पहले से ही मेडिकल टीम मौजूद थी ताकि जैसे ही बच्ची बाहर निकले वैसे ही उसे अस्पताल ले जाया जा सके। 

यह घटना मुंगेर जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र के मुर्गियाचक मुहल्ले की है। मंगलवार की शाम चार बजे खेलने के दौरान सना बोरवेल में गिर गयी थी। लाइट और सीसीटीवी कैमरे के जरिए निकाली गयी फुटेज में पता चला था कि वह 35 फीट की गहराई में बोरिंग के लिए डाले गए प्लास्टिक के पाइप में फंसी हुई थी। वहां तक पहुंचने के लिए प्रशासन ने बोरवेल के समानांतर चैनल बनाया। दो जेसीबी और दो पोकलेन की सहायता से खुदाई की गयी थी।

 रेस्क्यू टीम को बड़ी सफलता मिली है। बता दें कि सना के बाहर निकलते ही बच्ची के माता-पिता खुशी से झूम उठे और मौके पर मौजूद लोगों ने भी राहत की सांस ली। इधर, सीएम नीतीश कुमार ने भी बच्ची की सकुशल रेस्क्यू पर खुशी जाहिर की है। सीएम ने बचाव में लगे आपदा प्रबंधन विभाग, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ व जिला प्रशासन की टीम को धन्यवाद देते हुए कहा कि विपरीत परिस्थितियों के बाद भी सना की सकुशल रेस्क्यू बेहतर टीम समन्वय का परिणाम है। नीतीश कुमार ने सना को बेहतर चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। 



Find Us on Facebook

Trending News