स्कूल खुलने का साइड इफैक्ट, सरकारी स्कूल में 25 बच्चे मिले कोरोना पॉजिटिव, इसी जिले में मिला था प्रदेश का पहला मरीज

स्कूल खुलने का साइड इफैक्ट, सरकारी स्कूल में 25 बच्चे मिले कोरोना पॉजिटिव, इसी जिले में मिला था प्रदेश का पहला मरीज

मुंगेर। प्रदेश में स्कूल खुलने का अभी तीन दिन का ही समय गुजरा है. इसके साइड इफैक्ट सामने आने लगे हैं। मुंगेर के एक सरकारी स्कूल में एक साथ 25 छात्रों को कोरोना संक्रमित होने की बात सामने आई है। जिसके बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है और सभी बच्चों को क्वारेंटाइन करने की तैयारी शुरू कर दी गई है।

बताया गया कि मुंगेर के असरगंज प्रखंड के ममई उच्च विद्यालय में 75 बच्चों का कोविड टेस्ट किया गया था, जिनमें एक साथ 25 छात्र और शिक्षक कोरोना संक्रमित हो गये हैं। स्कूल में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमण का मामला सामने आने के बाद इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित करने का आदेश दिया गया है। सिविल सर्जन डॉ. अजय कुमार भारती ने यह आदेश दिया है। छात्रों के गांव के लोग और उनके संपर्क में आने वाले परिवार के लोगों की कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग कर सभी के जांच करने के निर्देश दे दिए गए हैं। 

स्कूलों पर लग सकता है ताला

मुंगेर के स्कूल में इतनी बड़ी संख्या में शिक्षकों और बच्चों के कोरोना संक्रमित हो जाने के बाद से दहशत का माहौल है। गांव में दहशत का माहौल है। बताया जा रहा है कि मुंगेर के स्कूल को बंद करने के आदेश दिये जा सकते हैं। साथ ही सैनिटाइजेशन पर भी जोर दिया जाएगा। 

मुंगेर में मिला था प्रदेश का पहला कोरोना मरीज

बता दें कि मुंगेर में ही प्रदेश का पहला कोरोना मरीज मिला था। अब स्कूल खुलने के बाद इतनी बड़ी संख्या में छात्रों के संक्रमित होने का मामला भी सबसे पहली बार इसी जिले में सामने आया है। बहरहाल, स्कूलों में इतनी संख्या में बच्चों के संक्रमित होने के बाद सरकार पर अपने फैसले को लेकर चिंता जरुर बढ़ गई है। 

Find Us on Facebook

Trending News