पुलिसिया कार्रवाई पर मुस्लिम समुदाय ने जताई नाराजगी, मुहर्रम पर्व नहीं मनाने का लिया फैसला

पुलिसिया कार्रवाई पर मुस्लिम समुदाय ने जताई नाराजगी, मुहर्रम पर्व नहीं मनाने का लिया फैसला

NALANDA : पुलिस कार्रवाई से नाराज सीएम के गृह ज़िला नालंदा में इस बार मुस्लिम समुदाय के लोग मोहर्रम पर्व नही मनाने और ताजिया जुलूस नही निकालने का फैसला किया है. गुरुवार को हिलसा शहर के जामा मस्जिद के प्रांगण में मुस्लिम समुदाय के अखाड़ा के सदस्यों और बुद्धिजीवियों ने बैठक कर यह फैसला किया. मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि वीते 21 सितंबर 2018  को ताजिया जुलूस के दौरान शहर के पासवान टोली में स्थापित किये गए गणपति की प्रतिमा को लेकर कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा साम्प्रदायिक अफवाह फैलाने की साजिश रची गयी थी. 

इस मामले में पुलिस की ओर से दोनों समुदाय के सदस्यों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए जेल भेजा गया था. लेकिन उस ताजिया जुलूस में नहीं रहते हुए जो लोग विदेश में थे, उनको भी झूठा मुकदमा में फंसा कर परेशान किया गया. उन्होंने कहा कि पुलिस की इस अड़ियल रवैया से नाराज मुस्लिम समुदाय के लोग इस बार मोहर्रम पर्व और ताजिया जुलूस नहीं निकालने का फैसला लिया है. वहीं सिरसा के विधायक शक्ति सिंह यादव ने कहा कि किसी भी स्थिति में संप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ा नहीं जाएगा. 

इस मामले को लेकर जिले के वरीय पुलिस पदाधिकारी से बात की जाएगी और प्रयास किया जा रहा है कि लोग हंसी-खुशी इस त्यौहार को मनाएं. इस बैठक की अध्यक्षता मुस्लिम एमतियाजमा कमिटी के सचिव मो. हुमायूँ रशीद अंसारी ने की. जबकि मौके पर मो. मामुनुर रशीद नदवी, मो. अजगर अली, मो. परवेज आलम , मो. अब्बास समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे.

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News