मुज़फ़्फ़रपुर : गैंगरेप सहित अलग अलग मामलों में 8 अपराधी गिरफ्तार, हथियार और बाइक बरामद

मुज़फ़्फ़रपुर : गैंगरेप सहित अलग अलग मामलों में 8 अपराधी गिरफ्तार, हथियार और बाइक बरामद

MUZAFFARPUR : मुज़फ़्फ़रपुर में कोरोना के संक्रमण के बीच जिले के वरीय पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देश पर अपराध और अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के दौरान जिले की पुलिस ने अलग-अलग थाना क्षेत्रों में कार्रवाई करते हुए  गैंगरेप और मद्य निषेध अधिनियम के तहत दर्ज मामलों में फरार चल रहे कुल 8 अपराध कर्मियों को गिरफ्तार किया है. बीते 9 अप्रैल को जिले के कटरा थाना क्षेत्र के कॉपी मारवाडी इलाके में माइक्रो फाइनेंस कंपनी में कार्यरत सारण जिले के मकेर थाना निवासी पंकज कुमार से अज्ञात अपराधियों ने हथियार के नोक पर 82 हजार रुपये लूट लिए थे. इस मामले में सिटी एसपी राजेश कुमार के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने साक्ष्य एकत्रित करते हुए तकनीकी अनुसंधान के आधार पर कटरा थाना क्षेत्र के धन और निवासी कुख्यात शराब माफिया आशीष कुमार उर्फ बिट्टू ठाकुर के साथ ही अकेली निवासी रोशन कुमार उर्फ प्रभात कुमार और औराई थाना क्षेत्र के महेश्वरा निवासी सत्यवीर कुमार को लूट के 25 हजार रुपये, 315 बोर का एक देशी कट्टा 315 बोर का तीन राउंड जिंदा कारतूस और चोरी की एक पल्सर और एक स्प्लेंडर मोटरसाइकिल के साथ धर दबोचा. 

मामले की जानकारी देते हुए सिटी एसपी राजेश कुमार ने कहा कि बिट्टू ठाकुर अवैध शराब का बड़ा माफिया व कारोबारी है. कटरा औराई गायघाट थाना में उसके विरुद्ध आर्म्स एक्ट, लूट, मद्य निषेध एवं उत्पाद अधिनियम व अन्य अपराध के एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं. अवैध शराब के धंधे के साथ ही अपने शागिर्दों के साथ लूट और छिनतई जैसी अपराधिक वारदातों को भी अंजाम देता है. एक अन्य मामले में हथौरी थाना क्षेत्र में पीड़िता के साथ गैंगरेप कर उसका वीडियो वायरल करने का मामला संज्ञान में आते ही महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज करते हुए घटना में शामिल दोषियों की पहचान की गई. पुलिस ने तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज करते हुए महज 24 घंटे के अंदर दरिंदगी की इस घटना में शामिल चार व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया. वहीं पांचवा आरोपी फरार बताया जा रहा है. पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपियों में राजा कुमार, मनीष कुमार, अर्जुन साहनी और यशवंत साहनी सभी हथौरी थाना क्षेत्र के निवासी है. सिटी एसपी ने बताया कि सभी आरोपियों के विरुद्ध वैज्ञानिक पद्धति से साक्ष्य संकलन करते हुए विधि सम्मत कार्रवाई की जा रही है. 

तीसरा मामला मीनापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत पानापुर ओपी थाना से जुड़ा है, जहां बीते सोमवार दोपहर में कुछ अपराध कर्मियों द्वारा किसी अपराध की योजना बनाने के लिए इकट्ठा होने की एक गुप्त सूचना मिली. सूचना के आधार पर छापेमारी की गई. मिली सूचना के आधार पर बूढ़ी गंडक नदी बांध पर की गई छापेमारी के दौरान पुलिस टीम को देखते एक व्यक्ति भागने लगा. जिसे पुलिस टीम द्वारा खदेड़ कर पकड़ लिया गया. पूछताछ के क्रम में उसने अपना नाम अक्षय कुमार निवासी मीनापुर के पानापुर थाना क्षेत्र स्थित जमीन मठिया गांव बताया. तलाशी के दौरान उसके पास से एक देशी कट्टा 8mm का एक राउंड जिंदा कारतूस बरामद किया गया. पकड़े गए अक्षय का आपराधिक इतिहास रहा है. उसने वर्ष 2020 में मोतीपुर के एक पेट्रोल पंप लूट कांड में जेल जाने की भी बात स्वीकारी है. नगर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया की पुलिस टीम द्वारा पकड़े गए अपराधियों का अपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है. वही स्वीकारोक्ति बयान और अनुसंधान के आधार पर पुलिस टीम फरार अपराध कर्मियों और इनके नेटवर्क के अन्य साथियों की गिरफ्तारी हेतु छापेमारी में जुटी हुई है. 

मुजफ्फरपुर से अरविन्द अकेला की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News