मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: आरोपी अश्विनी ने की सीएम नीतीश के खिलाफ जांच की मांग, विशेष पॉक्सो कोर्ट में दाखिल की अर्जी

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: आरोपी अश्विनी ने की सीएम नीतीश के खिलाफ जांच की मांग, विशेष पॉक्सो कोर्ट में दाखिल की अर्जी

MUZAFFARPUR : बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न केस से जुड़े एक मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी पूछताछ हो सकती है। विशेष पॉक्सो कोर्ट में दायर एक याचिका के अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ ही समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव अतुल प्रसाद और तत्कालीन डीएम धर्मेंद्र सिंह के खिलाफ भी जांच करने की मांग की गई है।

दरअसल मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस को लेकर गिरफ्तार डॉक्टर अश्विनी की ओर से तीन दिन पहले विशेष पॉस्को कोर्ट में अर्जी दाखिल की गई है।  आवेदन कहा गया है  है कि मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बालिका गृह को संचालन के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विभागीय प्रधान सचिव अतुल प्रसाद और तत्कालीन डीएम धर्मेंद्र सिंह की तरफ से लगातार मदद पहुंचाई गई। ऐसे में मुख्यमंत्री सहित अन्य लोगों की भूमिका की जांच क्यों नहीं की जा सकती। 

अश्विनी ने अपने आवेदन में कहा है कि वर्ष 2013 से ही मुजफ्फरपुर बालिका गृह को सरकार की तरफ से नियमित भुगतान किया गया। रूटीन जांच के दौरान विभाग के अधिकारी शेल्टर होम को क्लीन चिट देते रहे। यहां तक कि टीस की रिपोर्ट आने के बावजूद विभाग और सरकार में बैठे लोग महापाप पर पर्दा डालते रहे। ऐसे में इस कांड को लेकर बड़े ओहदे पर बैठे लोगों की भूमिका की जांच होनी चाहिए। 


Find Us on Facebook

Trending News