नहीं आई बेटी का बारात, दुखी पिता ने फांसी लगाकर दे दी जान

नहीं आई बेटी का बारात, दुखी पिता ने फांसी लगाकर दे दी जान

लखनऊ। यूपी के फतेहपुर में एक व्यक्ति ने फांसी लगाकर जान दे दी। मौत की इस घटना के पीछे जो बातें सामने आई हैं, वह समाज के उस काले चेहरे को दिखा रही है, जिससे बचने की आवश्यकता है। बताया गया कि उस व्यक्ति ने इसलिए फांसी लगा ली, क्योंकि उसकी बेटी की बारात नहीं आई। दहेज की पूरी रकम नहीं मिलने के कारण दुल्हा पक्ष बारात लेकर नहीं आया. जिससे वह बेहद आहत थे। फिलहाल, पुलिस ने पूरे मामले में अपनी जांच शुरू कर दी है और आत्महत्या के लिए मजबूर करनेवाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी की जा रही है।

मामले में बताया गया कि फतेहपुर नया पुरवा गांव के रहने वाले 45 वर्षीय राम सुफल निषाद की पुत्री माला देवी की शादी हमीरपुर जिले में तय हुई थी. इसी महीने 6 दिसंबर को बारात आनी थी लेकिन दहेज़ की मांग न पूरी होने के कारण बाराती बारात लेकर लड़की के घर नहीं आये, जिसके बाद पीड़ित पिता ने इस घटना की लिखित शिकायत एसपी के समक्ष पेश होकर की थी। इसी बीच दुल्हन न बनने का दुख झेल रही बेटी गुरुवार सुबह घर से निकली और देर शाम तक वापस नहीं लौटी। जिसको लेकर किसी अनहोनी की आशंका से सात बेटियां है और तीन पुत्र के चिंतित पिता को वह कदम उठाने के लिए मजबूर कर दिया, जिसके बारे में सोचकर भी किसी का दिल पसीज जाएगा। उन्होंने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी।

दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की उठी मांग

दहेज के कारण हुई आत्महत्या की घटना को लेकर अब स्थानीय लोग दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। मामले में एसपी सतपाल अंतिल ने बताया कि बिंदकी के नया पुरवा गांव से पुलिस को सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति ने सुसाइड किया है. जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच करते हुए पाया कि राम सुफल नामक व्यक्ति ने सुसाइड किया है.  एसपी के मुताबिक परिजनों की तहरीर पर तुरंत मुकदमा दर्ज करते हुए दो लोगों को अभियुक्त बनाया गया  है, जल्द ही गिरफ्तारी की कार्रवाई की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News