इंजीनियर आशुतोष हत्याकांड को लेकर बोले डीआईजी, आरोपी थानेदार बर्खास्त हुए, कुर्की हुई, लेकिन पकड़े नहीं गए

इंजीनियर आशुतोष हत्याकांड को लेकर बोले डीआईजी, आरोपी थानेदार बर्खास्त हुए, कुर्की हुई, लेकिन पकड़े नहीं गए

BHAGALPUR : पुलिस की कार्यशैली और लंबित केसों के निपटारे में थानों की स्थिति जानने मंगलवार को परबत्ता थाने पहुंचे. इस मौके पर डीआईजी सुजीत कुमार ने पुलिस की खामियों को स्वीकार किया. थाने पहुंचते ही उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. इसके बाद वे थाने में दाखिल हुए. उन्होंने थानों में रखी फाइलें खंगालीं. रिपोर्ट देखे और लंबित केसों की स्थिति जानी. इंजीनियर आशुतोष हत्याकांड में थानेदार की गिरफ्तारी न होने पर डीआईजी सुजीत कुमार ने कहा की पुलिस थानेदार को गिरफ्तार नहीं कर सकी है. इसमें अभी हमें सफलता नहीं मिली है. अपनी कमजोरी को छिपाने के लिए डीआईजी ने पुलिस विभाग का गुणगान भी खूब किया. उन्होंने कहा की थानेदार के घर की कुर्की-जब्ती की गयी है. विभाग ने उन्हें बर्खास्त भी कर दिया है. 

पंचायत चुनाव को लेकर अपनी सख्ती भी दिखाई

डीआईजी सुजीत कुमार ने कहा की पंचायत चुनाव के लिए पुलिस पूरी तरह तैयार है. गुंडे-बदमाशों की नकेल कसने के लिए उन्होंने सूची तैयार कर लेने की बात कही.  बोले-सभी पर सीसीए लगाया जाएगा. डीआईजी ने बताया, रूटीन शेड्यूल के तहत वार्षिक निरीक्षण का यह कार्यक्रम था. लंबित केसों की जांच की स्थिति, रिपोर्ट और अभिलेख देखे. जहां जरूरत थी, वहां निर्देश भी दिए गए. बस इतना कहा कि हेडक्वार्टर और डीआईजी (मेरे दफ्तर) से जो गाइडलाइन दी जाती है, उसे देखा. 

रंगरा ओपी में केस दर्ज होने के सवाल पर बोले-गंभीर मामला है

रंगरा ओपी में केस दर्ज होने के सवाल पर डीआईजी ने कहा, यह गंभीर मामला है. अभी इसका जवाब नहीं दिया जा सकता. नवगछिया थाने की बाउंड्रीवॉली के लिए उन्होंने एसपी सुशांत कुमार सरोज को निर्देश दिए हैं कि जो भी विवाद है, उस पर संबंधित लोगों से बात करें. इसके बाद आगे बढ़ें. 

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News