NATIONAL NEWS: सुप्रीम कोर्ट का एक और ऐतिहासिक कदम, विभिन्न हाईकोर्ट की रिक्त पदों के लिए की 68 नामों की अनुशंसा

NATIONAL NEWS: सुप्रीम कोर्ट का एक और ऐतिहासिक कदम, विभिन्न हाईकोर्ट की रिक्त पदों के लिए की 68 नामों की अनुशंसा

N4N DESK: रिकॉर्ड बनाने में सिर्फ खिलाड़ी ही क्यों पीछे रहें, सुप्रीम कोर्ट एक के बाद एक नए रिकॉर्ड कायम कर रहा है। पहले नौ जजों की एक साथ नियुक्ति कर सुप्रीम कोर्ट ने रिकॉर्ड बनाया। अब कॉलेजियम ने केंद्र सरकार को 12 हाईकोर्ट के जजों की नियुक्ति के लिए 68 नामों की सिफारिश की है, जो कि अपने आप में रिकॉर्ड है।

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमना, जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस एएम खानविलकर के कोलेजियम ने कई दिनों तक गहन विचार विमर्श के बाद 112 नामों पर विचार किया और इनमें से 68 नामों की सिफारिश की है। सर्वोच्च न्यायालय के कॉलेजों में जिन हाईकोर्ट के लिए जजों की सिफारिश की, उनमें इलाहाबाद, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, झारखंड, जम्मू और कश्मीर, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, पंजाब और हरियाणा, केरल, छत्तीसगढ़ और असम के उच्च न्यायालय शामिल हैं।

कॉलेजियम ने 25 अगस्त और 1 सितंबर को अपने बैठकों में हाईकोर्ट में जजों के तौर पर पदोन्नति के लिए 112 उम्मीदवारों के नामों पर विचार किया था। सूत्रों के मुताबिक जिन 68 नामों को आगे भेजा गया है, उनमें से 44 बार से और 24 न्यायिक सेवा से हैं। वही मारली वांकुंग मिजोरम से ऐसी पहली न्यायिक अधिकारी बन गई ,है जिनका नाम गुवाहाटी हाई कोर्ट में जज के पद के लिए भेजा गया है। वह अनुसूचित जनजाति से ताल्लुक रखती हैं। इसके अलावा 9 अन्य महिला उम्मीदवारों के नाम की भी सिफारिश की गई हैं।

Find Us on Facebook

Trending News