नवादा में नक्सलियों की बढ़ी सक्रियता, पर्चा साट लगायी आर्थिक नाकेबंदी

नवादा में नक्सलियों की बढ़ी सक्रियता, पर्चा साट लगायी आर्थिक नाकेबंदी

NAWADA : नवादा जिले के गोविन्दपुर प्रखंड के एकतारा कृषि फार्म में नक्सलियों ने मंगलवार की देर रात पर्चा साटकर आर्थिक नाकेबंदी की घोषणा की है. पर्चा साटने की सूचना पुलिस के वरीय अधिकारियों को दी गयी है. मगध जोनल कमिटी की ओर से चस्पा किये गये लाल रंग के प्रिंटेड पोस्टर में कहा गया है कि इस भूमि पर संगठन का पूर्व से ही आर्थिक नाकेबंदी लागू है. 

इसके साथ ही कई गरीबों के बीच भूमि का वितरण भी किया गया था. लेकिन स्थानीय दबंगों की मिलीभगत से भूमि के कुछ अंश की बिक्री कर दी गयी है. यह सिलसिला लगातार  जारी है. पर्चे में कहा गया है की संगठन के आर्थिक नाकेबंदी का उल्लंघन किया जा रहा है. चस्पा किये पर्चे में जमीन की खरीद बिक्री के साथ जमीन को आबाद करने पर रोक लगायी गयी है. इसके साथ ही आदेश का उल्लंघन करने वालों को कड़ी सजा देने की चेतावनी दी गयी है.

 बताते चलें की माओवादियों की इस भूमि पर काफी दिनों से नजर है. इसके मद्देनजर पहले वहां बनाये गए मकानों को डायनामाइट से नष्ट किया जा चुका है. नक्सलियों की इस कार्रवाई की वजह से कई वर्षों तक भूमि परती थी. हाल के दिनों में क्षेत्र में माओवादियों की सक्रियता बढी है. इसी सिलसिले में ककोलत के केयर टेकर यमुना पासवान से भी लेवी की मांग की जा चुकी है. 

अब हार्डकोर इनामी नक्सली प्रद्युम्न शर्मा अपना ठिकाना बनाने में लगा है. जमीन पर आर्थिक नाकेबंदी के माध्यम से वह स्थानीय लोगों को संगठन से जोड़ने के कवायद में लग गया है. हालाँकि नक्सली सक्रियता के बावजूद पुलिस क्षेत्र में लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही है. ऑपरेशन के तहत ही  फॉर्म के कोल महादेव जलाशय के पास से विस्फोटक और शस्त्र की बरामदगी कुछ दिन पहले ही की गयी है. एएसपी अभियान कुमार आलोक ने कहा है कि चस्पा किये गए पर्चा की जांच की जा रही है.

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News