नवादा में नक्सली संगठन की मजबूती के लिए वसूल रहे हैं लेवी, कोड वर्ड के जरिये पैर पसारने की कोशिश

नवादा में नक्सली संगठन की मजबूती के लिए वसूल रहे हैं लेवी, कोड वर्ड के जरिये पैर पसारने की कोशिश

नवादा: जिले भर में यूं तो नक्सलियों द्वारा लेवी वसूलने की खबर आम है। इन दिनों संगठन को आर्थिक मजबूती के लिए नक्सली रुपये की उगाही कर रहे हैं। बकायदा रसीद थमाकर धन संग्रह किया जा रहा है। चोरडीहा गांव से सटे जंगल में मुठभेड़ के दौरान मारे गए नक्सली कारु के पास से चंदा वसूली का रसीद बरामद किया गया है। भारत की कम्युनिष्ट पार्टी माओवादी मगध जोनल कमेटी के नाम से चंदा वसूली का रसीद है। हालांकि कटे हुए रसीद के हिस्से पर किसी का नाम दर्ज नहीं है। यह रसीद बतौर सहयोग, जुर्माना, टैक्स या बिक्री के रुप में रुपये वसूलने के बाद संबंधितों को दिया जाता है। रसीद के पिछले हिस्से पर माओ त्से तुड का पांच संदेश भी अंकित है। जिसमें कहा गया है कि शस्त्र बल द्वारा सत्ता छीनना, युद्ध द्वारा मसले को सुलझाना, क्रांति का केंद्रीय कार्य और सर्वोच्च रुप है। बहरहाल, इससे साफ है कि क्षेत्र में नक्सली रुपये की उगाही में जुटे हुए हैं। अभ्रक और पत्थर माफिया तो नक्सलियों के ही संरक्षण में अवैध कारोबार करते हैं। मोटी रकम लेने के बाद नक्सली उन्हें संरक्षण प्रदान करते हैं।

एएसपी ने बताया कि कोबरा जवान रविवार की रात से परतौनिया, भानेखाप, चोरडीहा के जंगलों में सर्च ऑपरेशन चला रहे थे। जिसमे नक्सली को मार गिराया गया. एएसपी अभियान ने कहा कि बरामद थ्री नॉट थ्री राइफल के बारे में पता लगाया जा रहा है। माना जा रहा है कि बरामद राइफल पुलिस से लूटी गई है। जांच के बाद यह साफ हो सकेगा। 

नक्सलियों के खिलाफ पुलिस की मुहिम लगातार जारी है। इस साल तीन महीने में लगातार तीसरी बार नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हो चुकी है। तीन महीने में दो नक्सली सुरक्षाबलों की गोलियों का निशाना बने। बहरहाल, तीन महीने के भीतर हुए मुठभेड़ में अबतक दो नक्सली मार गिराए जा चुके हैं।


Find Us on Facebook

Trending News