नवादा नगर परिषद अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव, बढ़ी राजनीतिक सरगर्मी

नवादा नगर परिषद अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव, बढ़ी राजनीतिक सरगर्मी

NAWADA : नवादा के मुख्य पार्षद पूनम कुमारी चंद्रवंशी व उप मुख्य पार्षद जमील अख्तर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की नोटिस दी गई है। बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव की नोटिस दी गई है। जिसमें 33 पार्षदों में से 19 ने हस्ताक्षर बनाए हैं। अविश्वास प्रस्ताव आने के साथ ही राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है।

इन पार्षदों ने किए हस्ताक्षर

वार्ड 13 के पार्षद अनिल कुमार के नेतृत्व में दिए गए अविश्वास की नोटिस पर वार्ड 12 के पार्षद रंजीत कुमार, 22 की शिल्पी कुमारी, 20 की गीता देवी, 19 की बेदामी देवी, 17 की नीता देवी, 09 के कृष्णा साव, 04 की मीना कुमारी, 30 के जसीमउद्दीन, 33 की शाहिन सरवर, 32 की कनिज फातिमा, 01 की पूजा कुमारी, 16 की सीमा राय, 08 के महावीर चंद्रवंशी, 03 की कंचन कुमारी, 31 की साजदा खातून, 28 की पूजा कुमारी, 15 के बब्लू कुमार और 18 की संजू शर्मा ने हस्ताक्षर किए हैं।

लगाए गए हैं ये आरोप

बताया जा रहा है कि अविश्वास प्रस्ताव की नोटिस में मुख्य पार्षद व उप मुख्य पार्षद पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। जिसमें बोर्ड की नियमित बैठक नहीं होना, वित्तीय अनियमितता, नगर क्षेत्र की सही से साफ-सफाइ नहीं होना, विकास योजनाओं का कार्यान्वयन सही समय पर नहीं होने से विकास की राशि वापस लौट जाना शामिल है।

बढ़ी राजनीति सरगर्मी

अविश्वास की नोटिस पेश होने के साथ ही जिले में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है। बोर्ड गिरेगा या बचेगा इसपर चर्चाएं तेज हो गई है। चर्चा होना भी स्वभाविक है। अविश्वास की नोटिस पर हस्ताक्षर बनाने वाले 19 सदस्यों में से आधे के करीब सत्ता पक्ष के ही हैं। दो साल तक सत्ता में रहने के बाद अचानक यू टर्न लेना चर्चाओं को हवा दे रहा है।

9 जून 17 को हुआ था बोर्ड का गठन

बता दें नवादा नगर परिषद के नए बोर्ड का गठन 9 जून 2017 को हुआ था। तब पूनम कुमारी चंद्रवंशी व जमील अख्तर दो तिहाई पार्षदों का समर्थन पाकर मुख्य पार्षद व उप मुख्य पार्षद निर्वाचित हुए थे। नियमानुसार दो वर्ष तक अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जा सकता था। जैसे ही दो वर्ष का कार्यकाल पूरा हुआ अविश्वास प्रस्ताव आ गया। हालांकि इसकी खिचड़ी पिछले कई दिनों से पक रही थी। बैठकों का दौर जारी था। एक पूर्व उप मुख्य पार्षद सरोज सिंह ने पांच दिनों पूर्व ही इसका खुलासा कर दिया था। उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 21 सदस्यों का समर्थन होने का दावा किया था। 

गौरतलब है कि श्रीसिंह की पत्नी गीता देवी फिलवक्त वार्ड 20 की पार्षद हैं।

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News