नवादा में करोड़ों का बालू फर्जी चालान से भेजा जा रहा बाहर, पुलिस बेखबर

नवादा में करोड़ों का बालू फर्जी चालान से भेजा जा रहा बाहर, पुलिस बेखबर

नवादा : जिले में बालू माफियाओं और पुलिस की सांठ-गांठ से दिनदहाड़े दर्जनों ठिकानों पर बालू का अवैध डीपो स्थापित कर फर्जी चलान के माध्यम से बालू दूसरे जिले व राज्यों में भेजा जा रहा है।

बालू ठेकेदार जय माता दी इंटरप्राइजेज के प्रोपराइटर गोपाल प्रसाद ने डीएम को त्राहिमाम् संदेश भेजकर बालू माफियाओं की वजाप्ता सूची देकर कार्रवाई की मांग की. जय माता दी इंटरप्राइजेज के प्रोपराइटर ने डीएम को दिए गए शिकायत पत्र में कहा है कि 2019 तक जिले के सम्पूर्ण बालू घाट की बंदोबस्ती प्राप्त है। एक विगत माह से सुरक्षा गार्ड मांगे जाने के बावजूद प्रशासनिक स्तर पर गार्ड मुहैया नहीं कराए जाने से खुलेआम गुंडे तत्वों द्वारा दिन-दहाड़े माइनिंग के फर्जी चलान पर विभिन्न जिलों के साथ ही दूसरे राज्यों के सीमावर्ती जिलों में बालू भेजकर करोड़ों रूपए सरकारी राजस्व को चूना लगाए जाने के साथ ही बालू विक्रेताओं को भी भारी क्षति पहुंचा रहा है। 

दिए गए शिकायत पत्र में कहा है कि वासिलीगंज  प्रखंड के मंजौर हाई स्कूल के पीछे मनोज सिंह व बीभू सिंह के द्वारा दर्जनों ट्रकों पर बालू लोडकर बाहर भेजा जाता है। इसी प्रखंड के बेलदरिया गांव के अंदर चंडीपुर दक्षिण साइड कुंभी रोड में, दौलतपुर पेट्रोलपम्प के बगल में मसनखावां पावरग्रिड के पीछे, वारिसलीगंज खरांट रोड के बीच में दर्जनों स्थानों पर, वारिसलीगंज मोड़ से दो किलोमीटर खनपुरा गांव के पूरब साइड फिल्ड के दक्षिण हसनपुर के बब्लू कुमार वल्द कारू यादव, मुर्गियाचक, फुलौआ, कोचगांव, माफी के नहर पर खुलेआम अवैध खनन कर बालू डम्प कर फर्जी चलान के आधार पर बाहर भेजा जा रहा है.

मुफस्सिल थाना क्षेत्र के भलुइयाटांड़ गांव में नरेश यादव के वाउंड्री में पकरिया मोड़ के पास नरेश यादव, फोटू कुमार, जन्मजय कुमार व रंजय कुमार के भट्ठा के उत्तर दिशा में पप्पू कुमार द्वारा एवं भलुइयाटांड़ के दक्षिण में बाल्मिकी यादव के खेत में विपिन कुमार, शंभू कुमार, विकास कुमार तथा चंदेश्वर यादव, रविन्द्र यादव, अशोक कुमार, विमिलेश कुमार, शांतिलाल यादव के खेत में वजाप्ता बालू डिपो बनाकर फर्जी चलान के आधार पर बालू बाहर भेजकर दिनदहाड़े करोड़ों रूपए के सरकारी राजस्व का चूना लगा रहा है. इस संबंध में पुलिस प्रशासन से कई बार सहयोग मांगा गया है. पर नतीजा कुछ भी नहीं निकला। जिसके बाद अब डीएम से सख्त कार्रवाई की मांग की जा रही है.

Find Us on Facebook

Trending News