नवादा में अवैध अभ्रक खदानों के 7 ठिकानों पर छापा,17 माफिया पर FIR दर्ज

नवादा में अवैध अभ्रक खदानों के 7 ठिकानों पर छापा,17 माफिया पर FIR दर्ज

नवादा : वन विभाग की टीम ने रजौली के सवैयाटांड़ पंचायत में संचालित अवैध अभ्रक खदानों पर एक साथ बड़ी कार्रवाई की. एसीएफ शशिभूषण प्रसाद के नेतृत्व में तीन अलग-अलग टीम का गठन कर एक साथ 7 अभ्रक खदानों पर छापामारी की गई. 

छापेमारी टीम में लोकसभा चुनाव के लिए सपही में कैंप कर रही आइटीबीपी, एसएसबी व एसटीएफ के जवान शामिल थे. इस दौरान विभिन्न खदानों से चार जेनरेटर, एक कंप्रेसर लगा ट्रैक्टर व भारी मात्रा में अभ्रक बरामद किए गए. अवैध अभ्रक खनन मामले में चार अलग-अलग प्राथमिकी की गई है. जिसमें 17 खनन माफिया को आरोपित किया गया है.

यह पहला अवसर है जब कई खनन माफिया पर केस दर्ज किया गया है. सभी पर वन विभाग की जमीन पर अवैध तरीके से अभ्रक का खनन करने का आरोप लगाया गया है. डीएफओ अवधेश कुमार ओझा ने बताया कि वन विभाग द्वारा पहली बार खनन माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है. एक साथ 7-8 माइंस में एक साथ कार्रवाई हुई है. उन्होंने कहा कि अवैध खनन करने वाले लोगों की खैर नहीं है. लगातार छापेमारी अभियान चलाकर अवैध खनन करने वाले माफिया पर कार्रवाई की जाएगी. डीएफओ ने अभ्रक खनन माफिया को चेतावनी देते हुए कहा कि अवैध तरीके से खनन करना बंद कर दें अन्यथा प्राथमिकी दर्ज कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि वन विभाग द्वारा की गई इस कार्रवाई में जिला प्रशासन व पुलिस का भरपूर सहयोग मिला है.वन विभाग की छापेमारी टीम ने सवैयाटांड़ पंचायत के शारदा माइका माइंस, टोपो पहाड़ी, ललकी माइंस, बसरौन और टिटहियां पहाड़ी पर कार्रवाई की है।.

माइका निकालने वाली सुरंग को जेसीबी से ध्वस्त कर उसमें बोल्डर डाल दिया गया है, ताकि अवैध खनन करने वाले माइका माफिया अभ्रक का फिर से अवैध उत्खनन करना शुरू न कर दें।  जिन अभ्रक माफियाओं पर प्राथमिकी दर्ज की गई है, उन पर पहले से ही 10-10 केस दर्ज है। जिसकी जानकारी वन विभाग को है। अभ्रक माफिया सवैया टांड़ पंचायत के खदानों से अभ्रक निकालने के बाद उसे कोडरमा जिले के कोडरमा में बड़ा गोदाम रखकर वहां से अभ्रक का ट्रांसपोर्टिंग करते हैं। जिस पर भी वन विभाग की कड़ी नजर है। वन विभाग द्वारा की गई इस बड़ी कार्रवाई में कोडरमा एसपी व डीएफओ ने भी काफी मदद की है।कोडरमा डीएफओ ने बताया है कि कोडरमा में 22 जगहों पर मायका का स्टोर किया जा रहा है। इन जगहों को भी चिह्नित कर कार्रवाई की जाएगी। 

कई माफिया पर दर्ज हुई प्राथमिकी

टोपो पहाड़ी माइंस पर की कार्रवाई में कोडरमा जिले के डोमचांच थाना क्षेत्र के सपही निवासी रमेश यादव, श्रवण कुमार साव, अनुज यादव व रजौली थाना क्षेत्र के बहेरवातरी के दुर्गा सिंह के साथ-साथ झारखंड के मशहूर माइका कारोबारी तिलैया निवासी सुरेश झांझरी को आरोपित किया गया है। वहीं शारदा माइका माइंस पर की गई छापेमारी में कोडरमा जिले के तिलैया थाना क्षेत्र के महेश राय, रजौली के चटकरी के ब्रह्मदेव सिंह, सुरेश सिंह, विनोद राजवंशी, बहेरवातरी के अमृत सिंह, बाराटांड़ के डॉ. अल्ताफ मियां, इसरायल मियां, सिमरातरी के शमीम मियां को आरोपित किया गया है।

इसके अलावा बसरौन माइंस पर की गई कार्रवाई में नारायण सिंह, डोमचांच के बेलाटांड़ के रामू यादव के साथ-साथ टिटहियां पहाड़ी पर हुई कार्रवाई में कोडरमा जिले के डोमचांच थाना क्षेत्र के सपही बाजार के सुरेन्द्र यादव व रजौली के टिटहियां निवासी भोला तुरिया को आरोपित किया गया है। छापेमारी टीम में रेंजर विवेकानंद स्वामी, रजौली व सिरदला के वनपाल रवि वर्मा, बीरेंद्र पाठक, राजकुमार पासवान, रामेश्वर यादव, वनरक्षी ऋषि कुमार, अरविद रजक, कौशल यादव समेत दर्जनों वनकर्मी शामिल थे।

Find Us on Facebook

Trending News