फर्जी प्रमाण पत्र पर बहाल महिला शिक्षक को नवादा पुलिस ने नालंदा से गिरफ्तार, शिक्षकों में मचा हड़कंप

फर्जी प्रमाण पत्र पर बहाल महिला शिक्षक को नवादा पुलिस ने नालंदा से गिरफ्तार, शिक्षकों में मचा हड़कंप

NAWADA :नवादा से एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां फर्जी बहाली में शिक्षक को नवादा के पुलिस ने नालंदा से गिरफ्तार किया है। जिसके बाद शिक्षकों में हड़कंप मच गया है। आरोपित शिक्षिका नालंदा जिला के नूरसराय थाना क्षेत्र के परमानंद विवाह गांव के निवासी बालेश्वर प्रसाद की पुत्री उषा कुमारी की गिरफ्तारी बिहार शरीफ के एक स्कूल से गिरफ्तार की गई है। 

गौरतलब है कि तृतीय व चतुर्थ चरण के तहत शिक्षक पात्रता परीक्षा में एक ही उतीर्णता प्रमाण पत्र के आधार पर भिन्न भिन्न स्कूलों में पदस्थापित शिक्षकों के प्रमाण पत्र की जांच कराई गई थी। तत्कालीन जिलाधिकारी के आदेश पर 203 शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच हुई थी। जिसमें जिले के विभिन्न प्रखंडों में 68 शिक्षकों के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए। जिसके आलोक में जिलाधिकारी ने फर्जी प्रमाण पत्रों पर बहाल शिक्षकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने का आदेश दिया था।

 सबसे बड़ी बात तो यह है कि फर्जी बहाली में गिरफ्तार होने के बाद शिक्षकों में हड़कंप मच गया है। शिक्षा विभाग की ओर से यह साफ तौर पर कहा गया है कि जो लोग फर्जी बहाली के रूप में शामिल है उन लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। महिला शिक्षिका के गिरफ्तारी ने शिक्षकों को होश उड़ा दिया है।

रोह में पांच शिक्षकों पर दर्ज हुई थी प्राथमिकी

 जिले के रोह प्रखंड में पांच शिक्षक फर्जी पाए गए थे। डीएम के आदेश पर रोह बीईओ ने पांचों शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। इधर आरोपी शिक्षिका का कहना है कि उन्हें यह पता नहीं है कि किस स्कूल में कौन टीचर बहाल थी। पुलिस उस महिला को गिरफ्तार करे, जो उनके नाम पर बहाल हुई।


Find Us on Facebook

Trending News