'दरिंदों' पर मेहरबान है बिहार पुलिस! 8 साल की बच्ची अस्पताल में मौत से जुझ रही, वर्दी वाले साहब मौज में....

'दरिंदों' पर मेहरबान है बिहार पुलिस! 8 साल की बच्ची अस्पताल में मौत से जुझ रही, वर्दी वाले साहब मौज में....

पटना... आठ साल की बच्ची, खेलने कूदने की उम्र, लेकिन हैवान ने रेप कर उसकी जिंदगी में सदा के लिए दर्द घोल दिया। पीएमसीएच के आईसीयू में भर्ती  बच्ची, जहां  जिंदगी की जंग लड़ रही. शुक्रवार को पीएमसीएच के डॉक्टरों ने मासूम बच्ची का पहले चरण का ऑपरेशन किया। ऑपरेशन तकरीबन डेढ़ घंटे तक चला।ऑपरेशन के बाद बच्ची को होश आ गया है। डॉक्टरों ने तो अपने फर्ज का निर्वहन कर दिया लेकिन पुलिस का क्या कहना...... वो तो चादर तान कर सोई है। पीड़िता जिंदगी की जंग लड़ रही और दूसरी तरफ आरोपी अब तक पकड़ से बाहर है। जिन पर आरोपी को गिरफ्तार करने की जिम्मेदारी है उसे इन सब चीजों से कोई मतलब नहीं। पूरा मामला नवादा जिले के पकरीबरावां की है जहां 30 नवंबर को 8 साल की मासूम के साथ रेप किया गया था।

सीएम नीतीश के निर्देश से पुलिस को मतलब नहीं

सीएम नीतीश लगातार पुलिस की सुस्ती तोड़ने को लेकर बैठक करते हैं.लेकिन उनके निर्देश को पुलिस नहीं मानती। यूं कहें कि बिहार के मुख्यमंत्री के फरमान को अब पुलिस नोटिस नहीं लेती। तभी तो 8 साल की बच्ची से रेप करने वालों को पुलिस अब तक गिरफ्तार करने में विफल रही है। बताया जाता है कि आरोपियों की पुलिस से सेटिंग है,इसी का फायदा उसे मिल रहा। जानकार बताते हैं कि कई माननीयों ने भी पुलिस से आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करने को कहा लेकिन पुलिस कहां सुनने वाली है। वो सिर्फ आश्वासन दे रही और दिखावे के लिए छापेमारी का दावा कर रही। नवादा पुलिस का कहना है कि मामले में आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर प्रयास किये जा रहे हैं.

 यह है मामला

बता दें कि 30 नवंबर को नवादा के पकरीबरावां थाना क्षेत्र के एक गांव में आठ वर्षीया बच्ची के साथ दुष्कर्म करने का मामला आया था। बच्ची अपनी मां के साथ घर के बाहर बरात देख रही थी। बैंड-बाजे के साथ वह भी गांव के स्कूल के आगे तक बढ़ गई। इसी दौरान युवक ने उसे पकड़ कर उसके साथ जोर जबरदस्ती की। कुछ देर बाद वह लौटकर घर आई और अपनी मां को घटना के बारे में जानकारी दी। जिसके बाद पीड़िता की मां ने 2 दिसंबर को दुष्कर्म के आरोपित युवक का हुलिया बताते हुए अज्ञात के खिलाफ पकरीबरावां थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई।

बेटी ने खोली आंख तो पिता हुए भावुक

आईसीयू में भारी भरकम मशीनों और ऑक्सीजन के साये में लेटी आठ साल की बच्ची ने शुक्रवार को जब अपनी आंखे खोली तो सामने अपनी मां व पिता को देखकर उसका चेहरा खिल गया। बच्ची की इस हालत से आहत पिता ने जब बेटी की मुस्कान देखी, तो उनकी आंखों से भी आंसू छलक उठे। वो रोते-रोते अपनी बेटी को प्यार करने लगे। 

तीर बार होगा ऑपरेशन

ऑपरेशन का नेतृत्व कर रहे सर्जरी विभाग के हेड डॉ. आईएस ठाकुर ने बताया कि बच्ची का रेक्टम डैमेज होने की वजह से तीन बार ऑपरेशन किया जाएगा। ऑपरेशन से पहले बच्ची का कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आया था। 


Find Us on Facebook

Trending News