गया में नक्सली कमांडर नवल भुइयां ने किया सरेंडर, पुलिस को कई मामलों में थी तलाश

गया में नक्सली कमांडर नवल भुइयां ने किया सरेंडर, पुलिस को कई मामलों में थी तलाश

GAYA : शुक्रवार को केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल के 159 वीं बटालियन के गया स्थित मुख्यालय में कई नक्सली कांडों को अंजाम देने वाला नक्सली कमांडर नवल भुइयां उर्फ अर्जुन ने केरिपुबल, बिहार पुलिस तथा प्रशासन के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया. भाकपा माओवादी जोनल कमाण्डर नवल भुईयाँ उर्फ अर्जुन भदवर थाना क्षेत्र के  जगतपुर का रहने वाला है. इस मौके पर राकेश राठी, पुलिस महानिरीक्षक, मगध क्षेत्र गथा, संजय कुमार, पुलिस उपमहानिरीक्षक,केरिपुबल, रेज पटना,राजीव कुमार मिश्रा, वरीय पुलिस अधीक्षक,सुधीर कुमार पोरिका, भा.पु.से., पुलिस अधीक्षक, औरंगाबाद, निशीत कुमार, कमाण्डेंट 159 बटालियन केरिपुबल गया,अवधेश कुमार, द्वितीय कमान अधिकारी, 169 बटालियन, केरिपुबल, अरूण कुमार सिंह,द्वितीय कमान अधिकारी, 205 कोबरा, कुमार ओमप्रकाश सिंह,अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान), गया, राजेश कुमार,अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान), औरंगाबाद एवं अन्य वरीय पदाधिकारियों के उपस्थित थे. 


केन्द्रीय रिजर्य पुलिस बल, कोबरा एवं अभियान दल के लगातार ऑपरेशन और इलाके में सुदृढ़ नाकेबंदी से 20 वर्षों से नक्सल संगठन में जुड़े जोनल कमाण्डर नवल भुईयों उर्फ अर्जुन ने नक्सल संगठन छोड़ने का फैसला किया. इस फैसले के बाद इन्होंने अपने विभिन्न स्त्रोतों के माध्यम से केरिपुबल अधिकारियों से संपर्क किया और आत्मसमर्पण करने की इच्छा जतायी. उसने छकरबन्दा इलाके से सुरक्षित निकालने में मदद करने का अनुरोध किया. इनके अनुरोध पर केरिपुबल एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच वार्ता करने के उपरान्त इन्हें उथित मदद का आश्वासन दिया गया. आश्वासन के उपरांत उपरोक्त जोनल कमाण्डर ने माओवादी पार्टी छोड़कर केरिपुबल अधिकारियों से संपर्क किया और इन्हें केरिपुबल टीम एवं पुलिस द्वारा सुरक्षित तरीके से बाहर निकाल लिया गया. जोनल कमाण्डर नवल भुईयाँ उर्फ अर्जुन के उपर गया में 09 और औरंगाबाद में कुल 38 नक्सल मामले दर्ज है. 

जिसमें से इस वर्ष में मध्य विद्यालय, सोनदाहा, थाना-बांकेबाजार, जिला-गया को बम से उड़ाने, वर्ष 2019 में 205 कोबरा कमाण्डों के साथ पचरूखिया जंगल के नजदीक, छकरबंधा जंगली क्षेत्र में भीषण मुठभेड़ जिसमें 205 कोबरा के उपनिरीक्षक रौशन कुमार शहीद हुये थे, वर्ष 2016 में 205 कोबरा के साथ एकरूपईवा,थाना-लुटूआ में नक्सलियों के साथ भीषण मुठभेड़, जिसमें नक्सल सबजोनल कमाण्डर अनिल राय मारा गया था, वर्ष 2016 में ही 205 कोबरा के साथ सतनदीया नाला, थाना-देव में नक्सलियों के साथ भीषण मुठभेड़, जिसमें 03 नक्सली मारे गये थे, वर्ष 2016 में डुमरीनाला में 205 कोबरा के साथ मुठभेड़ एवं आई.ई.डी. ब्लास्ट,जिसमें 205 कोबरा के 10 जवान शहीद हुये थे, वर्ष 2016 में बंधुबिगहा, देव में रोड़ में आई.ई.डी. विस्फोट कर कोबरा जवान को मोटरसाईकिल सहित उड़ाने, जिसमें 01 जवान शहीद हुआ था मुख्य नक्सली घटनायें है. राकेश कुमार राठी, पुलिस महानिरीक्षक मगध जोन गया, संजय कुमार, पुलिस उपमहानिरीक्षक रेंज पटना, निशीत कुमार, कमाण्डेन्ट, 159 बटालियन,राजीव मिश्रा, वरीय पुलिस अधीक्षक, गया, सुधीर कुमार पोरिका, भा.पु.से., पुलिस अधीक्षक,औरंगाबाद के समक्ष नवल भुईयाँ उर्फ अर्जुन ने आत्मसमर्पण किया है. 


उसे मुख्य अतिथि राकेश कुमार राठी, पुलिस महानिरीक्षक मगध जोन गया ने पुष्पगुच्छ देकर समाज की मुख्य धारा में पुनः सम्मिलित किया. इस अवसर पर राकेश कुमार राठी, पुलिस महानिरीक्षक मगध जोन गया ने संदेश दिया कि समाज से भटके नौजवान जो मुख्य धारा से अलग होकर नक्सलियों का साथ दे रहे है, वो सभी हिंसा का रास्ता छोड़कर समाज की मुख्य धारा में सम्मिलित हो और अपने परिवार एवं समाज का विकास करें. जिसके लिए बिहार पुलिस एवं केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल सदैव तत्पर हैं. इस मौके पर द्वितीय कमान अधिकारी अवधेश कुमार, द्वितीय कमान अधिकारी सोहन सिंह, डिप्टी कमांडेंट मोतीलाल, डिप्टी कमांडेंट अंबर घोष, डिप्टी कमांडेंट ओपी यादव, सहायक कमांडेंट दिलीप कुमार सहित कई अधिकारी व जवान मौजूद थे. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 



Find Us on Facebook

Trending News