बारूदी सुरंग लगाकर उड़ाने की साजिश मामले में 12 वर्षों से फरार नक्सली गिरफ्तार

बारूदी सुरंग लगाकर उड़ाने की साजिश मामले में 12 वर्षों से फरार नक्सली गिरफ्तार

KAIMUR: कानून के हाथ लंबे होते हैं। अपराध की उम्र छोटी होती है। पिछले 12 सालों से पुलिस की आंखों में धूल झोंकने वाला फरार नक्सली को आखिर पुलिस ने गिरफ्तार कर ही लिया। कैमूर जिले के पुलिस सीआरपीएफ और रोहतास के सीआरपीएफ के सहयोग से यह सफलता मिली है। पिछले 12 वर्षों से फरार चल रहे नक्सली प्रमोद उरांव को पुलिस ने  गिरफ्तार किया है।  

6 अक्टूबर 2008 को अधौरा के आथन मोड़ के पास पुलिस पार्टी को उड़ाने के लिए बारूदी सुरंग लगाने आरोपी पकड़ा गया। अधौरा थाना में इसके ऊपर कांड संख्या  19/2008 दर्ज है। उस समय घटनास्थल से 10 किलोग्राम विस्फोटक और 2 डेटोनेटर बरामद हुआ था । पुलिसिया जांच में 19 लोगों की संलिप्तता की बात सामने आई थी। सभी पर नामजद प्राथमिकी दर्ज हुई थी। 

यह नक्सली उसी समय से फरार चल रहा था। जानकारी देते हुए कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया एएसपी अभियान के नेतृत्व में कैमूर जिले के सीआरपीएफ और रोहतास के सीआरपीएफ ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए रोहतास जिले के नौहट्टा थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाके से प्रमोद उरांव को गिरफ्तार किया है। जो पिछले 2008 से फरार चल रहा था। 

नक्सली ने पुलिस से की गई पूछताछ में इस बात का खुलासा भी किया है। बताया जा रहा था कि 2008 में अधौरा थाना क्षेत्र के आथन मोड़ के पास बारूदी सुरंग बिछा कर पुलिस पार्टी को डेटोनेटर लगाकर उड़ाने का प्रयास किया गया था । उसी बीच पुलिस की तत्परता से विस्फोटक को बरामद कर लिया गया था । 

उस समय इस घटना में शामिल 19 लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज किया गया था और उसी समय से भागकर पहाड़ी इलाकों में छुप कर रह रहा था। जिसे 12 वर्ष के बाद पहाड़िया घाट से रोहतास जिले के नौहट्टा थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है ।

कैमूर से देवव्रत की रिपोर्ट।

Find Us on Facebook

Trending News