गया में फिर नक्सलियों ने दर्ज कराई उपस्थिति, पर्चा गिराकर ली व्यवसायी के हत्या की जिम्मेवारी

गया में फिर नक्सलियों ने दर्ज कराई उपस्थिति, पर्चा गिराकर ली व्यवसायी के हत्या की जिम्मेवारी

GAYA : प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने एक बार फिर नक्सल ज़ोन डुमरिया में पर्चा गिराकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है. बताया जा रहा है की मैगरा थाना क्षेत्र के आधा दर्जन स्थानों पर हस्त लिखित पर्चा गिराया गया है. हालांकि सुबह होते ही स्थानीय पुलिस ने पर्चा को जब्त कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है. थाना क्षेत्र के आईटीआई कॉलेज, चोन्हा,कोठी मोड़ भुइयांडीह,हरनी,खजुर आदि जगहों पर हस्त लिखित पर्चा गिराया गया था. 

बताया जा रहा है की भाकपा माओवादी द्वारा हस्तलिखित पर्चा गिराकर एकबार फिर दोहरे हत्याकांड ईँट व्यवसायी महेंद्र यादव व पड़ोसी रामदयाल रजक की हत्या की जिम्मेवारी ली गयी है. माओवादी द्वारा लिखा गया है कि मृतक पुलिस का मुखबिर था. हत्या नक्सली ने की है. इसमें गरीब लोगों को मुकदमा दर्ज कर फंसाया गया है. आगे लिखा गया है कि महेंद्र यादव की चल व अचल सम्पति को जनता जप्त करे. वही मृतक महेंद्र यादव के चल रहे ईँट भट्ठा को नहीं चलने देने की धमकी दी है. जनता को आगाह किया है कि शांति ईँट भट्टा से ईंट नही खरीदे. हरनी निवासी व मृतक महेंद्र यादव के दो पुत्र मुन्ना यादव व रंजीत यादव को पुलिस मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए जनअदालत में सजा देने की बात लिखी है. निवेदक में मध्य जोनल कमिटी भाकपा माओवादी पर्चा में लिखा है. परचा गिराए जाने से क्षेत्र में एक बार फिर भय का माहौल कायम हो गया है. 

बताते चलें कि गत 28 अगस्त को महेन्द्र यादव व राम दयाल रजक हत्या कर दी गई थी. इस संदर्भ में मैगरा थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया कि दर्ज प्राथमिकी में से नाम हटाने के लिए यह धमकी दी जा रही है. पर्चे बरामद कर सनहा दर्ज कर लिया गया है. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट



Find Us on Facebook

Trending News