अपने ही डिपार्टमेंट में घिर गए एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े, रिश्वत मांगने के आरोपो की जांच का हुआ फैसला

अपने ही डिपार्टमेंट में घिर गए एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े, रिश्वत मांगने के आरोपो की जांच का हुआ फैसला

MUMBAI : आर्यन खान ड्रग्स केस को लेकर चर्चा में आए मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े अब खुद कई प्रकार के आरोपों से घिरते जा रहे हैं। उन पर  आर्यन खान केस में गवाह प्रभाकर साइल ने 8 करोड़ रुपए रिश्वत लेने का आरोप लगाया है। जिसके बाद अब एनसीबी के डीजी ज्ञानेश्वर सिंह के मुताबिक, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के खिलाफ सतर्कता जांच का आदेश दिया है। 

मामले में डीडीजी एनसीबी ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा,  'डीडीजी एसडब्ल्यूआर से एक रिपोर्ट हमारे डीजी को प्राप्त हुई थी, उन्होंने विजिलेंस सेक्शन को एक जांच के लिए चिह्नित किया हैष  मुख्य सतर्कता अधिकारी उचित रूप से जांच से निपटेंगे। 

बता दें कि मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले में नया मोड़ तब आ गया,  जब 'स्वतंत्र गवाह' प्रभाकर साईल ने दावा किया कि आर्यन को तीन अक्टूबर को एनसीबी कार्यालय लाने के बाद उन्होंने गोसावी को फोन पर डिसूजा नामक एक व्यक्ति को 25 करोड़ रुपये की मांग और मामला 18 करोड़ पर तय करने के बारे में बात करते हुए सुना था क्योंकि उन्हें 'आठ करोड़ रुपये समीर वानखेड़े (एनसीबी के जोनल निदेशक)को देने थे।' साईल ने मीडिया से कहा कि एनसीबी अधिकारियों ने उनसे नौ से 10 कोरे कागजों पर हस्ताक्षर करने के लिए भी कहा।

Find Us on Facebook

Trending News