एनडीए की बैठक में सीएम नीतीश कुमार के नाम पर लगेगी मुहर, अधिक सीट मिलने पर मंत्रीमंडल में भाजपा कोटे से बढ़ेगी संख्या

एनडीए की बैठक में सीएम नीतीश कुमार के नाम पर लगेगी मुहर, अधिक सीट मिलने पर मंत्रीमंडल में भाजपा कोटे से बढ़ेगी संख्या

पटना... बिहार की नई सरकार को लेकर आज बतौर सीएम नीतीश कुमार के नाम पर मुहर लगेगी। रविवार को पटना में पूरे दिन सियासी सरगर्मी रहने की उम्मीद है, ऐसे में यह माना जा रहा है कि आज नई सरकार के गठन के फार्मूले के साथ ही नीतीश कुमार के नाम पर सीएम पद को लेकर मुहर लग जाएगी।

रविवार को पटना में दो महत्वपूर्ण बैठक होनी है, खास बात यह है कि यह दोनों बैठक एनडीए से संबंधित हैं। इस बैठक में नीतीश कुमार को फिर से पहले एनडीए के विधायक दल का नेता और फिर सीएम के पद के लिए चुना जाएगा जिसके बाद एनडीए के सभी घटक दलों के नेता राजभवन जाकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

इन तमाम गतिविधियों पर गहन नजर रखने के लिए भाजपा केंद्रीय नेतृत्व केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर को पर्यवेक्षक बनाकर भेज रहा है। दोनों नेता विधायक दल की बैठक में शामिल होंगे। साथ ही इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी इनके मुलाकात करने की संभावना है। 

एनडीए को अनुमान से कम सीटें

विधानसभा चुनाव में अनुमान से कम सीटों पर जीत हासिल होने के कारणों को लेकर एनडीए में मंथन हो रहा है। एनडीए के घटक दल अपने-अपने स्तर पर चुनाव और उसके परिणामों का आकलन कर रहे हैं। इसमें सबसे अधिक नुकसान जदयू को हुआ है। 2015 के विधानसभा चुनाव में 71 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। वहीं इस बार 43 सीटों पर जीत मिली है। इस तरह 28 सीटों का सीधा नुकसान हुआ है। जदयू ने 115 सीटों पर अपने उम्मीदवारों को उतारा था, लेकिन मगध और शाहाबाद क्षेत्र में उसे सबसे अधिक नुकसान हुआ है. इस इलाके की नौ जिले की सभी 22 सीटें जदयू हार गई।


भाजपा कोटे के बढ़ेगी मंत्रियों की संख्या 

सूत्रों के अनुसार नई सरकार में भाजपा कोटे के मंत्रियों की संख्या भी ज्यादा होने की संभावना है। मौजूदा 16वीं विधानसभा में भाजपा कोटे के 11 मंत्री थे। इस बार भाजपा के सीटों की संख्या 53 से बढ़कर 74 हो गई है। ऐसे में उनके मंत्रियों की संख्या बढ़ना स्वाभाविक है। 

एक दर्जन नए लोगों को मंत्री बनने का मिल सकता है मौका 

इस बार की 17वीं विधानसभा में नये मंत्रिमंडल का स्वरूप काफी नया दिख सकता है। इस बार करीब एक दर्जन नए लोगों को मंत्री बनने का मौका मिल सकता है। मंत्रिमंडल में युवा चेहरों को प्रमुखता दी जा सकती है और जिले व सामाजिक समीकरण का भी ख्याल रखा जा सकता है।

एनडीए छोड़ने की खबर को मांझी ने बताया अफवाह

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने उनकी पार्टी की ओर से उन बातों को कोरी अफवाह बताया है जिसमें यह कहा जा रहा है कि अच्छा ऑफर मिलने पर हम एनडीए से बाहर जा सकता हैं।

सीएम के नाम का  हो सकता है ऐलान

रविवार को होने वाली एनडीए की बैठक पर सभी की नजरें हैं। माना जा रहा है कि बैठक में सीएम के नाम का ऐलान किया जाएगा। इसके साथ ही मंत्रिमंडल के गठन और किसे किस मंत्रालय की जिम्मेदारी दी जाएगी, इस पर विचार किया जाएगा।


Find Us on Facebook

Trending News