निसंतान दंपत्तियों के लिए वरदान : नीलकंठ इनफर्टिलिटी एंड आईवीएफ हॉस्पिटल अब पटना में

निसंतान दंपत्तियों के लिए वरदान : नीलकंठ इनफर्टिलिटी एंड आईवीएफ हॉस्पिटल अब पटना में

PATNA: निसंतान दंपत्तियों के दामन में खुशियों के फूल खिलाने वाले व सूने आंगन में किलकारी गुंजायमान करने के रिकॉर्ड बनाने वाले नीलकंठ इनफर्टिलिटी एंड आईवीएफ हॉस्पिटल अब बिहार के निःसंतान दम्पतियों के लिये एक आस लेकर आया है ताकि उन्हीं माता पिता होने का सुखद अहसास कराया जाय। अब बिहार की धरती पर भी सुनी आंचलों को हरा-भरा करने का काम सफलतापूर्वक किया जाएगा।उपरोक्त बातें विश्व आईवीएफ दिवस पर नीलकंठ इनफर्टिलिटी एंड आईवीएफ हॉस्पिटल के निदेशक व राष्ट्रीय स्तर के प्रसिद्ध स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बिंदु गर्ग ने news4nation से बातचीत करते हुए बतायीं।

डॉ. बिंदु गर्ग ने बताया कि आईवीएफ एक ऐसी तकनीक है जो लाखों निसंतान दंपतियों को माता पिता होने का सुखद एहसास करा चुकी है। उन्होंने बताया कि आज से 41 साल पहले दुनिया में लुइस ब्राउन नामक टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म हुआ था। लुइस ब्राउन के जन्म के बाद से अब तक पूरी दुनिया पूरी दुनिया में लाखों की संख्या में टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म हो चुका है चुकी लुइस ब्राउन का जन्म आज ही के दिन हुआ था इसलिए 25 जुलाई को वर्ल्ड आईवीएफ डे के तौर पर मनाए जाने की परंपरा है।

 डॉक्टर बिंदु गर्ग ने बताया कि भारत में पिछले तीन दशकों में 50% से ज्यादा इनफर्टिलिटी की बढ़ोतरी हुई है । देश में 10 से 15% ऐसे दंपति हैं जो इस समस्या से पीड़ित है। बेशक पीड़ित दंपति आईवीएफ तकनीक की गुणवत्तापूर्ण सहायता लेकर माता पिता बनने का सुख प्राप्त कर सकते हैं । यदि विवाह के 2 से 3 साल के अंदर मां बनने का सुख नहीं मिल रहा हो तो दंपति को जल्द से जल्द चिकित्सक से सलाह ले लेना चाहिए।

 उन्होंने बताया की इनफर्टिलिटी बढ़ने के पीछे यूं तो कई कारण हैं लेकिन भौतिकवादी युग में बदलते खानपान और बदलती जीवन शैली व रहन - सहन के स्तर ने लाइफ़स्टाइल को बुरी तरह प्रभावित किया है। अब काफी कम उम्र में थायराइड, डायबिटीज और हृदय रोग जैसी बीमारियां लोगों को अपने शिकंजे में ले ले रही हैं। तेजी से बढ़ रहे शहरीकरण के बीच महिलाओं में भी अल्कोहल और धूम्रपान की प्रवृत्ति बढ़ रही हैं। ज्यादा उम्र में शादी का होना भी एक महत्वपूर्ण कारण बन रहा है। कुल मिलाकर उपरोक्त लिखित वजहों से इन्फर्टिलिटी में काफी बढोत्तरी देखी जा रही है।

डॉक्टर बिंदु गर्ग ने कहा कि इन सारी चीजों को देखते हुए नीलकंठ इनफर्टिलिटी एंड आईवीएफ हॉस्पिटल ने निर्णय लिया की बिहार की राजधानी पटना में भी एक शाखा खोलकर किफायती दर पर बिहार के निसंतान दंपतियों के आंचल में फूल खिलाया जाए। हमलोगों ने अपनी शाखा कंकड़बाग राजेन्द्र नगर में स्थापित कर निःसंतान दम्पतिओं को माता पिता बनने के सुखद अहसास से जोड़ने का काम शुरू कर दिया है। आने वाले कुछ ही दिनों में पटना शाखा का विधिवत शुभारंभ कर दिया जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News