बिहारशरीफ सदर अस्पताल में फिर दिखी पुलिसकर्मियों की लापरवाही, हाथ में हथकड़ी लगाकर अकेले घूमता रहा कैदी

बिहारशरीफ सदर अस्पताल में फिर दिखी पुलिसकर्मियों की लापरवाही, हाथ में हथकड़ी लगाकर अकेले घूमता रहा कैदी

NALANDA : बिहारशरीफ सदर अस्पताल परिसर में एक बार फिर बिहार पुलिस की लापरवाही सामने आई है। जहां बुधवार को बिहारशरीफ मंडल कारा से इलाज कराने के लिए लाया गया विचाराधीन कैदी हाथों में हथकड़ी लेकर इधर उधर घुमता नजर आया। लेकिन युवक के साथ मंडल कारा से आए सुरक्षा कर्मी इस बात से अनजान दिखे। 


युवक का नाम शहबाज आलम बताया जा रहा है। वह गत तीन माह से बिहारशरीफ मंडल कारा में बंद है। इलाज के बाद जब उसे पुन: जेल ले जाने के दौरान उसके हाथ में हथकड़ी और दुसरे हाथ में दो थैला लिए अकेले वाहन तक जा रहा था। उस समय उसके साथ एक भी सुरक्षा कर्मी नहीं था। 

तीन माह पहले इसी तरह की लापरवाही के कारण अस्पताल से कैदी फरार हो गया था। जिसे काफी मशक्कत के बाद गिरफ्तार किया गया था। यही नहीं नूरसराय और राजगीर में भी पूर्व में कोरोना जांच के लिए लाया गया कैदी फरार हो चुका है। जबकि उस समय उन कैदियों के साथ दो दो सुरक्षा कर्मी भी थे। 

जेल अधीक्षक प्रभात कुमार ने बताया की इस संबंध में किसी ने कोई जानकारी नहीं दी है। अगर लापरवाही बरती गयी है, तो सुरक्षा कर्मियों के प्रभारी से इस संबंध में पूछताछ की जाएगी। दोषी पाए जाने पर वरीय पदाधिकारी को कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा। किसी भी कीमत पर सुरक्षा कर्मी विचाराधीन कैदी के हथकड़ी को छोड़ नहीं सकता है। कैदी के गंभीर रोग पीड़ित रहने पर आवश्यकता के अनुसार दुरी जरूर बना सकता है। लेकिन हथकड़ी के रस्सी को अपने हाथ में ही रखेगा।

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News