भाजपा विधायक पर पड़ोसी ने प्रताड़ित करने लगाया आरोप, घर पर लगाया "मकान बिकाऊ है" का बोर्ड

भाजपा विधायक पर पड़ोसी ने प्रताड़ित करने लगाया आरोप, घर पर लगाया "मकान बिकाऊ है" का बोर्ड

BETTIAH : लौरिया विधानसभा के भाजपा विधायक विनय बिहारी के पड़ोसी ताराचंद ने वर्षों से जमीनी विवाद में परेशान कर घर नहीं बनने देने और स्थानीय प्रशासन को अपने प्रभाव में कर प्रताड़ित करवाने विधायक पर आरोप लगाया है। योगापट्टी के मच्छरगावां गांव निवासी ताराचंद साह अपना घर छोड़ न्याय के लिए मुख्यमंत्री जनता दरबार चला गया। 


इस बात की पुष्टि पीड़ित परिवार के मुखिया मच्छरगावां गांव निवासी ताराचंद साह ने वायरल वीडियो में करते हुए बताया कि उसका घर लौरिया विधायक विनय बिहारी के सटे बगल में है। उसके घरारी की जमीन जो उसके नाम से बंदोबस्त है। उस पर विधायक उसका घर बनने नहीं दे रहे हैं। विधायक होने के कारण स्थानीय थाना और अंचल को अपने प्रभाव में लेकर उसको बार बार थाना और अंचल बुलाकर प्रताड़ित करवाते हैं। आगे उसने बताया कि दो दिन पूर्व विधायक द्वारा थाना पर फोन कर उसको थाना बुलवाकर थाना प्रभारी से एक सादा कागज पर हस्ताक्षर पुलिसिया धौंस दिखाकर ले लेने की बात बतायी है। उसने विडियो के माध्यम से सोशल मीडिया पर न्याय के लिए मदद की गुहार भी लगायी। 

साथ ही रविवार को अपने पूरे परिवार सहित मच्छरगावां अपने घर पर एक पोस्टर लगाकर विधायक द्वारा प्रताड़ित करने व विवाद में परेशान करने की बात लिखकर घर बंद कर कही और बस जाने की बात दिखाया है। इस बावत स्थानीय योगापटटी थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि पीड़ित ताराचंद साह का जमीनी विवाद विधायक विनय बिहारी के साथ है। उसके लिए अंचल सीओ के द्वारा जमीन की पैमाईश के लिए कागजात की मांग दोनों पक्षों से किया गया है। जिसमें एक पक्ष विधायक के द्वारा अपना कागजात दिया गया है। लेकिन आरोप लगा रहे ताराचंद साह के द्वारा अपना कागजात अभी तक प्रस्तुत नही किया गया है। उसके द्वारा लगाया गया आरोप बेबुनियाद है। 

वायरल वीडियो के द्वारा लगाए गए ताराचंद साह के आरोप के बावत लौरिया विधायक विनय बिहारी ने बताया कि उसके पड़ोसी ताराचंद साह के द्वारा लगाया गया आरोप बेबुनियाद है। यह मामला अंचल और स्थानीय थाना में गया है। उन्होंने बताया की आरोप लगाए व्यक्ति की जमीन उनके खानदान की है, जिसको आरोप लगा रहे व्यक्ति द्वारा चार डीस्मील जमीन बंदोबस्त करायी गयी है। मेरे उसके बंदोबस्त भूमि पर घर बनाने से कोई ऐतराज नहीं है। लेकिन ताराचंद साह द्वारा बंदोबस्त भूमि से ज्यादा पर काबिज होना चाहता है। जिसके लिए अंचल द्वारा दो बार नोटिस देकर कागजात और भूमि पैमाईश कराने दी गई है। लेकिन वह नोटिस मिलने के बाद भी उक्त समय पर अपना कागजात प्रस्तुत नही कर सके। उन्होंने कहा कि आरोप लगा रहा व्यक्ति अपने भूमि की पैमाईश करा अपने चार डिसमिल भूमि पर अपना घर बनाए और बचे भूमि को छोड़ दे वह भूमि मेरी है। मैं भी उस बचे हुए भूमि पर अपना कोई मकान न बनवाकर सार्वजनिक रास्ता के लिए लिखकर दे दू। ताकि पीछे वाले घर के परिवार के लोगों को आने जाने का रास्ता हो सके।

बेतिया से आशीष कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News