किसानों के हित में है नया कृषि कानून, कुछ ताकतें भ्रमित करने चला रही अपना एजेंडा : अश्विनी चौबे

किसानों के हित में है नया कृषि कानून, कुछ ताकतें भ्रमित करने चला रही अपना एजेंडा : अश्विनी चौबे

भागलपुर... केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि नए कृषि कानून को लेकर कुछ ताकतें किसानों को भ्रमित कर अपना एजेंडा चला रही हैं। इन ताकतों से किसानों को बचके रहने की आवश्यकता है। नया कृषि कानून किसानों के हित में है। उनके कल्याण के लिए है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार किसानों की आय को दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए निरंतर कार्य जारी रहेगा। चौबे बुधवार को वृंदावन विवाह भवन में भारतीय जनता पार्टी द्वारा आयोजित किसान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे गांव-गांव जाकर कृषि कानून के बारे में किसानों को बताएं। उन्हें जागरूक करें।

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा देश

चौबे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश लगातार विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है। सभी क्षेत्रों में भारत की प्रगति हो रही है। हर तरफ भारत का सम्मान बढ़ रहा है। कांग्रेस, वामपंथी, राजद एवं अन्य विपक्षी पार्टियों को देश का सर्वांगीण विकास, किसानों का कल्याण रास नहीं आ रही है। आज देश में किसान के नाम पर जो भ्रम फैलाने का काम किया जा रहा है, वह दुखद है। 

नए कृषि कानून को लागू हुए महीनों बीत गए हैं। अब अचानक भ्रम और झूठ का जाल बिछाकर विपक्षी पार्टियां अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रही है। विपक्षी प‍ार्टियां के मंसूबे धराशाही  होंगे। उन्होंने कहा कि नए कानून के बाद से देश में एक भी मंडी बंद नहीं हुई, फिर क्यों यह झूठ फैलाया जा रहा है? इसे समझने की जरूरत है। केन्द्र सरकार ने न सिर्फ एमएसपी में वृद्धि की, बल्कि ज्यादा मात्रा में किसानों से उनकी उपज को एमएसपी पर खरीदा है। 

पूर्व मंत्री व बांका के विधायक रामनारायण मंडल ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के कल्याण के लिए लगातार कार्य कर रही है। आजादी के बाद मोदी सरकार के नेतृत्व में किसानों की भलाई के लिए सबसे अधिक कार्य हुए हैं। कार्यक्रम की शुरूआत वंदे मातरम गीत से हुआ। 

इस मौके पर भाजपा के भागलपुर जिलाध्यक्ष रोहित पांडेय ने मंत्री श्री चौबे को सम्मानित किया। रोहित पांडेय ने कहा कि कृषि कानून का विरोध ऐसे लोग या नेता कर रहे हैं, जिन्‍हें किसानों के‍ हित से कोई लेना देना नहीं है। वे नहीं चाहते कि किसान तरक्‍की करे। कृषि कानून किसानों को हर प्रकार से सुरक्षित करेगा। केंद्र सरकार किसानों और गरीबों के लिए समर्पित है।

इन्‍होंने भी दिए भाषण

सम्मेलन को जिला कार्यकारी अध्‍यक्ष संतोष कुमार, पीरपैंती विधायक ललन पासवान, वारिष्ठ नेता हरिवंश मणि सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष अभय बर्मन, अर्जित शाश्वत चौबे, किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष शिब बालक तिवारी, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष श्वेता सिंह, मुन्ना सिंह, अरुण सिंह ने भी संबोधित किया। मंच संचालन जिला उपाध्यक्ष दिलीप निराला ने किया।

इस अवसर पर श्यामल किशोर मिश्रा, रौशन सिंह, अभय घोष सोनू, डॉ प्रीति शेखर, रुबी दास, देवव्रत घोष, अभिनव कुमार, इंदु भूषण झा, प्रणब दास, उमाशंकर, मनीष दास, सतीश कुमार उर्फ कन्हैया झाप्रो. किरण सिंह, दिलीप मिश्रा, सुधीर भगत, पंकज सिंह, शशि मोदी, गौरव दास, बिम्मी शर्मा, सुनिधि मिश्रा, अनीता सिन्हा, राज किशोर गुप्ता, बबीता मिश्रा, नारायणी मिश्रा आदि उपस्थित थी।

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News